भारत जोड़ो यात्रा के बाद अब कांग्रेस की यूपी जोड़ो यात्रा: खड़गे, राहुल और प्रियंका को भेजा गया शामिल होने का न्योता

भारत जोड़ो यात्रा के बाद अब कांग्रेस की यूपी जोड़ो यात्रा: खड़गे, राहुल और प्रियंका को भेजा गया शामिल होने का न्योता

लखनऊ दिसंबर 15 (TNA) कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा निकालकर कांग्रेस को नई ताकत दी तो अब राहुल गांधी के इसी फार्मूले पर चलते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय राज्य में आगामी लोकसभा चुनावों के पहले यूपी में कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने के लिए यूपी जोड़ो यात्रा निकालने की तैयारी कर ली है. जिसले चलते यूपी में कांग्रेस की यूपी जोड़ो यात्रा इसी 15 दिसंबर से सूबे के सहारनपुर जिले से शुरू होगी.

सहारनपुर के सूफी संत हजरत कुतुबे आलम और बाबा हरिदास की नगरी गंगोह से शुरू होने वाली यह यात्रा करीब 15 दिन बाद सीतापुर के तीर्थ स्थल नैमिषारण्य पहुंचेगी. इस यात्रा के दौरान जनसभाएं करके जनता की समस्याओं को उठाते हुए आम जनता को पार्टी के जोड़ने पर फोकस किया जाएगा. इस यात्रा में शामिल होने के लिए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ ही राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को भी न्योता भेजा जा रहा है.

सहारनपुर से इसलिए निकली जा रही यात्रा

कांग्रेस नेताओं के अनुसार, उत्तर प्रदेश में अपने वोट बैंक को वापस पाने के लिए बीते छह वर्षों से कांग्रेस नेता लगातार प्रयास कर रहे हैं, लेकिन अभी तक उन्हे इस मामले में सफलता नहीं मिली हैं. ऐसे में राहुल गांधी की सफल हुई भारत जोड़ो यात्रा का संज्ञान लेते हुए अजय राय ने जनता के बीच पहुंचकर आमजन को जोड़ने के लिए यूपी जोड़ो यात्रा निकालने की योजना तैयार की. फिर उन्होने बहुत ही सोच समझकर सूबे के सहारनपुर जिले से यह यात्रा शुरू करने का फैसला किया. सहारनपुर पश्चिमी उत्तर प्रदेश का बेहद ही महत्वपूर्ण जिला है.

इस जिले में मां शाकुंभरी देवी मंदिर है, इस मंदिर की हिंदू समाज में बहुत मान्यता है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मां शाकुंभरी देवी में बहुत आस्था है. इस वजह से उन्होंने वर्ष 2019 और वर्ष 2022 में अपने चुनावी प्रचार की शुरुआत सहारनपुर से ही की थी. इसके अलावा सहारनपुर में ही दारुल उलूम देवबंद भी है, जिसे एशिया में इस्लामी शिक्षा के प्रमुख केंद्रों में जाना जाता है.

दारुल उलूम देवबंद में पढ़ने वाले लाखों छात्र देश और यहां तक कि विदेशों में भी फैले हुए हैं.  यही वजह है कि दारुल उलूम में राजनीति से दूरी बनाए रखने के बावजूद वहां नेताओं का आना-जाना लगा रहता है. जिसके चलते ही अजय राय ने यूपी जोड़ो यात्रा को शुरू करने के लिए इस जिले का चयन किया है. अजय राय का कहना है कि इस जिले से यात्रा शुरू कर कर वह समूचे यूपी को कांग्रेस की सक्रियता को लेकर जनता को संदेश देने में सफल होंगे.

इन जिलों से निकलेगी यात्रा

अजय राय के अनुसार, यूपी जोड़ो यात्रा के जरिए गांव-गांव, पांव-पांव और नगर-नगर, डगर-डगर का नारा दिया जाएगा. यह यात्रा सहारनपुर के गंगोह क्षेत्र से शुरू होकर मुजफ्फरनगर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी होते हुए सीतापुर के नैमिषारण्य में पहुंचेगी. इसके बाद यह यात्रा रायबरेली, प्रयागराज, वाराणसी तथा प्रदेश के अन्य जिलों में भी निकाली जाएगी. यह यात्रा जिन जिन जिलों से गुज़रेगी, उन सभी जिले में पार्टी के पूर्व सांसद, पूर्व विधायक और पदाधिकारी जनता की समस्याओं को उठाएंगे. और केंद्र तथा प्रदेश की सत्ता में काबिज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जनविरोधी नीतियों से जनता को अवगत कराएंगे. अजय राय के मुताबिक उनके नेतृत्व में निकली जाने वाली इस यात्रा के जरिए आम लोगों को पार्टी से जोड़ने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा.

— राजेंद्र कुमार

Related Stories

No stories found.
logo
The News Agency
www.thenewsagency.in