आरपीआई ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, मनीष गुप्ता हत्याकांड में दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या के तहत मुकदमा की मांग

आरपीआई ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, मनीष गुप्ता हत्याकांड में दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या के तहत मुकदमा की मांग

लखनऊ, 30 सितंबर (TNA) रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) ने गोरखपुर में युवा व्यापारी मनीष गुप्ता हत्याकांड के लिए जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की है। इसके लिए आरपीआई (आठवले) के प्रदेश अध्यक्ष पवन भाई गुप्ता ने मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखा है।

गुप्ता ने कहा कि कानपुर के युवा व्यापारी की गोरखपुर में पुलिस की ओर से कथित तौर पर की गयी पीट-पीटकर हत्या बेहद शर्मनाक एवं वीभत्स है। जब नागरिकों को सुरक्षा देने के बजाय खुद पुलिस हत्या में संलिप्त हो तो आम जनता का विश्वास पुलिस से उठ जाता है।

उन्होंने कहा कि आरपीआई ने इस संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर त्वरित कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने आगे कहा कि कानपुर के युवा व्यापारी मनीष गुप्ता का गोरखपुर के रामगढ़ थाना क्षेत्र में एक होटल में पुलिस की चेकिंग के दौरान हत्या कर दी गयी।

परिजनों का आरोप है कि पुलिस की ओर से व्यापारी की पीट-पीटकर हत्या कर दी। आज आयी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी व्यापारी के सिर,चेहरे और शरीर में गंभीर चोट के निशान हैं, वहीं गोरखपुर पुलिस ने इसे केवल हादसा बताया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ये बिल्कुल स्पष्ट हो गया है कि व्यापारी मनीष गुप्ता की मौत पिटाई से हुई है।

उन्होंने कहा कि मृतक मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी ने अपनी तहरीर में 6 लोगों का नाम दिया है, जबकि पुलिस की तहरीर में सिर्फ 3 लोगों के नाम हैं। ऐसे में पुलिस की मिलीभगत और कार्रवाई पर सावालिया निशान उठ रहे हैं। गुप्ता ने कहा कि अधिकारियों की ओर से परिजनों को समझौता करने का दबाव बनाते हुए एक वीडियो सामने आया है। पूरी घटना में पुलिस की कार्यशैली पर सावालिया निशान उठ रहे हैं। मृतक व्यापारी की पत्नी और बच्चे को न्याय अवश्य मिलना चाहिए।

Related Stories

No stories found.