प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया स्वनिधि योजना के हितग्राहियों से संवाद, ट्विटर पर #AatmaNirbharVendor पहुंचा टॉप पर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया स्वनिधि योजना के हितग्राहियों से संवाद, ट्विटर पर #AatmaNirbharVendor पहुंचा टॉप पर

लखनऊ || प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम स्वनिधि योजना के उत्तर प्रदेश के हितग्राहियों से संवाद किया। जिस समय प्रधानमंत्री जी पटरी व्यवसायियों से संवाद कर रहे थे, उस समय सोशल मीडिया पर हैशटैग #AatmaNirbharVendor अव्वल नम्बर पर ट्रेंड कर रहा था।

प्रधानमंत्री ने कहा, "गरीब के नाम पर राजनीति करने वालों ने ऐसा माहौल बनाया था कि गरीब को लोन दे दिया तो वो पैसा नहीं लौटाएगा। लेकिन देश का गरीब ईमानदारी और आत्मसम्मान से कभी भी समझौता नहीं करता। देश में पहली बार ऐसी योजना लागू की गई है, जिसका लाभ कम समय में गरीबों तक पहुंच रहा है।"

प्रधानमंत्री जी ने इस अवसर पर आगरा की प्रीति, वाराणसी के अरविंद और लखनऊ के विजय बहादुर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया और उनका उत्साहवर्धन किया। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए कहा, "पटरी व्यवसायी समाज के अंतिम पायदान पर खड़ा हुआ वह व्यक्ति है, जिसकी मजबूरी हो जाती थी कि वह अपने व्यवसाय को करने के लिए साहूकार से महंगे ब्याज दर पर लोन ले। ₹10,000 की यह पूंजी उसका बहुत बड़ा संबल है।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश के 651 स्थानीय निकायों के 3.70 लाख से अधिक व्यवसायियों का ऋण हेतु आवेदन स्वीकृत हो चुका है तथा दो लाख 74 हजार पटरी व्ययवासियों को पीएम स्वनिधि योजना से ऋण दिया जा चुका है और इससे उनके व्यवसाय और त्यौहार की रौनक बदल गई। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना महामारी संकट में आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने पीएम गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा कर गरीबों के कल्याण के लिए एक बड़ा प्रयास किया है।

योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री को विश्वास दिलाया कि जिन पटरी व्यवसायियों ने अब तक अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है, उन सभी को पीएम स्वनिधि योजना का लाभ प्राप्त होगा।

इस वर्चुअल संवाद के विषय में बात करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार में नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने कहा, "आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने लॉकडाउन के चलते रेहड़ी-पटरी व्यवसायियों को अपना व्यवसाय पुन: शुरू करने के लिए सहायता देने के उद्देश्य से एक जून को पीएम स्वनिधि योजना की शुरुआत की घोषणा की थी।

तब से अबतक उत्तर प्रदेश में 7 लाख से अधिक रेहड़ी-पटरी व्यवसायियों ने इस योजना के अंतर्गत अपना पंजीकरण कराया है। इसमें से 6.40 लाख आवेदन ऑनलाइन प्राप्त हुए हैं। इसी तरह 3.70 लाख आवेदन स्वीकृत हो चुके हैं और 2.74 लाख व्यवसायियों को ऋण भी वितरित कर दिया गया है। आज आदरणीय प्रधानमंत्री जी द्वारा पटरी व्यवसायियों से सीधा संवाद करने से उनका उत्साहवर्धन हुआ है।"

उन्होंने इस स्वनिधि योजना में उत्तर प्रदेश के अव्वल स्थान पर रहने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा, " यह आदरणीय प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा और उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के कुशल मार्ग-निर्देशन में संभव हुआ। इस योजना के चलते गरीब वर्ग के रेहड़ी-पटरी व्यवसायियों को अपना व्यवसाय स्थापित करने में बहुत मदद मिली है।"

उत्तर प्रदेश पीएम स्वनिधि योजना में रेहड़ी पटरी व्यवसायियों को ऋण देने में अव्वल स्थान पर है। यही नही देश भर के पहले 10 शहरों में यूपी के 7 शहर इस सूची में शामिल हैं।

Related Stories

The News Agency
www.thenewsagency.in