पत्रकार पर जानलेवा हमला हुए कई दिन, करहल पुलिस की कार्यशैली के प्रति पत्रकारों मे आक्रोश

पत्रकार पर जानलेवा हमला हुए कई दिन, करहल पुलिस की कार्यशैली के प्रति पत्रकारों मे आक्रोश

मैनपुरी, अगस्त 5 (TNA) कस्बा करहल के एक पत्रकार के साथ कुछ अवांछित लोगों द्वारा की गई मारपीट के मामले में और पुलिस द्वारा आरोपियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही तथा गिरफ्तारी न किए जाने से पत्रकारों में आक्रोश व्याप्त है। इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के बैनर तले आरोपियों की अति शीघ्र गिरफ्तारी को लेकर प्रदेश सचिव और जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में तीन दर्जन से अधिक पत्रकारों ने तिकोनिया पार्क में धरना प्रदर्शन किया ।अगर आरोपियों की अति शीघ्र गिरफ्तारी नहीं हुई तो पत्रकारों का आंदोलन उग्र रूप ले लेगा ।

जिला मुख्यालय के कस्बा करहल निवासी पत्रकार ऋषिकांत दुबे के साथ लगभग 5 दिन पूर्व दिनदहाड़े नाम जदो ने मारपीट और लूट की संगीन वारदात को अंजाम दिया था। थाना करहल पुलिस ने पीड़ित पत्रकार की तहरीर पर लूट और मारपीट की धाराओं में मुकदमा तो दर्ज कर लिया मगर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की।

आरोपी अबनीश उर्फ रिंकू पुत्र सुभाष चंद्र निवासी अहलादपुर, सुग्रीव यादव पुत्र रामदास निवासी दोस्तपुर ,अनूप यादव पुत्र दशरथ सिंह निवासी मोहल्ला भटेला तथा चार अज्ञात के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। कई दिन बीत जाने के बावजूद भी जब आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो मैनपुरी का चौथा स्तंभ दर्जनों की संख्या में पुलिस अधीक्षक से मिला।

इस मौके पर विजय अब्रेस, केके मिश्रा, प्रमोद झा, दीपक कठेरिया, नदीम सिद्दीकी, मनीष मिश्रा दीपक शर्मा, अनिल शाक्य ,गौरव पांडे, प्रमोद पांडे ,अक्षय आर्यन, अरुण यादव ,नफीस अली ,सत्यम तिवारी, प्रवीण सक्सेना, अतुल सक्सेना, अभिषेक जैन ,वसीम, सलमान मंसूरी, अर्पित चतुर्वेदी, अभिषेक चौबे, यूनुस अली सहित 3 दर्जन से अधिक पत्रकार मौजूद रहे ।

आश्वासन मिलने के बावजूद भी आरोपियों की कोई गिरफ्तारी नहीं हुई। गुरुवार की दोपहर इंडियन जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के बैनर तले प्रदेश सचिव साकिब अनवर चिश्ती और जिलाध्यक्ष अजय दीक्षित के नेतृत्व में 3 दर्जन से अधिक पत्रकार पीड़ित पत्रकार के साथ कलेक्ट्रेट स्थित तिकोनिया पार्क पहुंचे और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए धरने पर बैठ गए। धरना प्रदर्शन के दौरान प्रदेश सचिव साकिव ने कहा करहल पुलिस आरोपियों को संरक्षण दे रही है। आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं।

पुलिस आरोपियों पर हाथ डालने से कतरा रही है ।अगर आरोपियों की अति शीघ्र गिरफ्तारी नहीं हुई तो पत्रकारों का यह आंदोलन उग्र रूप धारण कर लेगा। जिलाध्यक्ष अजय दीक्षित ने कहा कि प्रदेश भर में लगातार कहीं ना कहीं आए दिन पत्रकारों पर हमले हो रहे हैं ।चौथे स्तंभ के साथ लगातार हो रही घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जाएंगी।

उन्होंने कहा कि ऋषि कांत दुबे के साथ हुई घटना के आरोपियों को कहल पुलिस ने अगर 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार करके सलाखों के पीछे नहीं भेजा तो पत्रकारों का यह धरना प्रदर्शन उग्र रूप धारण कर लेगा।

Related Stories

No stories found.