डिफेंस कॉरीडोर में अब तक 24 हजार करोड़ से अधिक का हो चुका है निवेश

डिफेंस कॉरीडोर में अब तक 24 हजार करोड़ से अधिक का हो चुका है निवेश

लखनऊ, जून 27 (TNA) औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने कहा कि देश को रक्षा उत्पादन का हब बनाने में अग्रणी भूमिका निभाने वाली उत्तर प्रदेश डिफेंस इंडस्ट्रियल में देश-दुनिया की बड़ी रक्षा उत्पाद निर्माता कंपनियां निवेश कर रही हैं। उधर, भारत सरकार के पर्यावरण मंत्रालय द्वारा यूपी के सभी डिफेंस कॉरिडोर को अनापत्ति प्रमाण-पत्र (एनओसी) जारी किए जाने से लंबे समय से मंजूरी के इंतजार में सुस्त पड़ा डिफेंस कॉरिडोर अब रफ्तार पकड़ रहा है। इससे हजारों-लाखों रोजगार के अवसर खुलेंगे।

मंत्री नंदी ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक्सप्रेसवे, इंडस्ट्रियल कॉरीडोर और डिफेंस कॉरीडोर की नई और प्रस्तावित परियोजनाओं की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए। नंदी ने बताया कि अब तक 24 हजार करोड़ से अधिक का निवेश डिफेंस कॉरीडोर में हो चुका है। लखनऊ नोड में ब्रम्होस एयरोस्पेस, एरोलॉय टेक्नोलॉजी, झांसी नोड में भारत डायनेमिक्स लिमिटेड, कानपुर नोड में अडानी डिफेंस सिस्टम, अलीगढ़ में एमिटेक इलेक्ट्रॉनिक्स और एंकर रिसर्च लिमिटेड जैसी बड़ी कंपनियां अपनी इकाई लगा रही हैं।

मुख्यमंत्री ने नए प्रस्तावों के संबंध में तत्काल निर्णय लेने और कोई भी प्रस्ताव लंबित न रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि समीक्षा के दौरान बेहतर कनेक्टिविटी के लिए एक्सप्रेसवे से जुड़ाव (कवरेज) को और विस्तार देने की आवश्यकता पर बल दिया गया। इस दौरान जेवर में बन रहे विश्वस्तरीय एयरपोर्ट को भी एक्सप्रेसवे से जोड़ने के लिए गंगा एक्सप्रेसवे से जेवर एयरपोर्ट तक लिंक एक्सप्रेसवे का निर्माण कराया जाना तय किया गया। इसी प्रकार आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से पूर्वांचल एक्सप्रेसवे तक लिंक एक्सप्रेसवे तथा गंगा एक्सप्रेसवे से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे तक वाया फर्रुखाबाद एक नया लिंक एक्सप्रेसवे बनाने की भी बात हुई।

इस संबंध में प्रारंभिक अध्ययन कर विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने को अफसरों को निर्देशित किया गया। मंत्री नंदी ने बताया कि चित्रकूट लिंक एक्सप्रेस वे के साथ-साथ यह तीन नए एक्सप्रेस वे प्रदेश के विकास की रफ्तार को तेज करने वाले होंगे।

logo
The News Agency
www.thenewsagency.in