लखनऊ काफी हाउस के पास अशोक मार्ग पर भड़ भूजे की वो दुकान जिसके हैं राजनीति के धुरंधर भी मुरीद
Pradeep Kapoor

लखनऊ काफी हाउस के पास अशोक मार्ग पर भड़ भूजे की वो दुकान जिसके हैं राजनीति के धुरंधर भी मुरीद

काफी हाउस के पास अशोक मार्ग पर लाई चना, जिसको भड़ भूजा भी कहते है, की दुकान है आज़ादी से पहले से चल रही हैं। इस ऐतिहासिक दुकान से पूर्व प्रधान मंत्री चंद्रशेखर, मुख्यमंत्री वीर बहादुर सिंह और पूर्व राज्यपाल लालजी टंडन, मधुकर दिघे और तमाम राजनेता और आम जनता पिछले 75 से ज्यादा सालों मैं लाई चना, सत्तू और मूंग फली लेते रहे हैं।

आज जब हमने दुकान पर बैठे मालिक राजू से बात की तो उन्होंने बताया कि इस दुकान को आज़ादी से पहले उनके दादा मल्लू शाह ने खोला था और उसको बढ़ाया व चलाया उनकी माताजी अंगना देवी ने जिनके कुछ महीने पहले 100 से ज्यादा उम्र होने पर निधन हुआ। राजू ने बताया कि उनकी मां ने जहां एक ओर दुकान चलाई और दूसरी तरफ पूरे परिवार को पाला और सभी पढ़ाई और शादी भी की।

पूर्व प्रधान मंत्री चंद्रशेखर जी ने मुझे बताया था कि एक दौर था जब वे एपी सेन रोड पर पार्टी कार्यालय में रहते थे और रिक्शे से हजरतगंज उतर जाते थे। फिर भड़ भूजे की दुकान से लाई चना लेते हुए पैदल ही चल मेरे पिता बिशन कपूर से मिलने नवल किशोर रोड पर घर पहुंचते थे।

राजू ने बताया कि चंद्रशेखर जी, वीर बहादुर सिंह जी और लालजी टंडन जी सत्ता में हों या नहीं काफी हाउस पहुंचते ही लाई चना मंगवाते थे। उनको वही अच्छा लगता था। मुझे याद है आखिरी दिनों में जब एनडी तिवारी जी भी काफी हाउस पहुंचने लगे थे तो वे भी लाई चना मंगवाते थे इस दुकान से।

हमने भी अपने बचपन से राजू की मां अंगना देवी से ही लाई चना मूंगफली सत्तू और दीपावली पर खेल बतासे और खिलौने लेते रहे हैं। देश की आज़ादी की 75 साल का जश्न मनाया जा रहा है तो हमने सोचा की इस ऐतिहासिक दुकान के बारे मैं बात की जाय।

-- प्रदीप कपूर

(लेखक उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार हैं, लखनऊ पर शायद उनकी जैसी दुर्लभ व रोचक जानकारी किसी और के ही पास होगी)

Related Stories

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in