इमोजी ने हमारी जिंदगी कर दी आसान, बन गई भावनाओं की पहचान

इमोजी ने हमारी जिंदगी कर दी आसान, बन गई भावनाओं की पहचान

आज हम एक ऐसे दिन की चर्चा कर रहे है जी जो सोशल मीडिया जगत की आज के दिन जान है| बिना इसके सोशल मीडिया का मज़ा अधूरा है।यह बात अलग है उसे इस्तेमाल करना आता है या नही पर इसे इस्तेमाल करते है |जी हाँ आज यानी 17 जुलाई को विश्व इमोजी दिवस का है।

इमोजी जापानी भाषा का शब्द है। इमोजी वेब पेज और मेसेज में उपयोग किये जाने वाले छोटे चित्रों को कहा जाता है, यह चित्र आमतौर पर चेहरे के हाव-भाव, वस्तुओं, जगह, मौसम व पशु इत्यादि कई श्रेणियों के होते हैं।

दुनिया भर में emojis का उपयोग बड़ी तेज़ी से फैल रहा है। उसी तरह जैसे किसी समय कार्टून के ज़रिये हास परिहास में अपनी बात कहने का व प्रहार करने का बहुत अधिक चलन था ।आज सोशल मीडिया पर हाल-ए-दिल का इजहार करना हो या किसी पर गुस्सा दिखाना, शोक व्यक्त करना ,चाहे बात समझ ना आना हो यहाँ तक खिल्ली उड़ाना वो भी बिना शब्दों के और ये सब मुमकिन हो पा रहा है, इशारों की भाषा इमोजी का इस्तेमाल करके किया जा रहा है।

आज न केवल ईमेल बल्कि व्हॉट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर स्टेटस या फिर चैट के लिए इमोजी हमारी दुनिया का हिस्सा बन चुका है। दुनिया भर में रोजाना पांच अरब से ज्यादा इमोजी यूज होती है।आज चैट में इमोजी ही दिल व दिमाग़ की जुबां बन गई है। कहने का अर्थ है इमोजी इलेक्ट्रानिक चित्रों का ऐसा शक्ल है, जो कि आपके चेहरे के भाव को छोटी सी इमेज से व्यक्त करते हैं।

विश्व में तकनीक का विकास काफी तेज़ी से हुआ है। पर इतनी तेज़ी के साथ ही लोगों ने तकनीक इस्तेमाल करना नहीं सीखा ।कुछ ही लोग इसका सही इस्तेमाल कर पाते हैं। मतलब ना पता होने पर कभी-कभी गलत इमोजी का इस्तेमाल करते हैं, जिसकी वजह से कभी-कभी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ सकता है।

आज वर्ल्ड इमोजी डे (World Emoji Day) है। इस मौके पर हम आपको बताने में ज़रा भी नही शर्म करेंगे इसका सही इस्तेमाल हम भी नही कर पाते हैं। ऊपर देख कर कॉपी पेस्ट करते हैं ।यह एक शॉर्ट हैंड विधा हैं |अपनी बात को संक्षिप्त में कहने की ।आप अपनी बात समय ना होने पर भी पूरी कह लेते हैं जिससे अपने लोगों से सम्बंध मज़बूत करते हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी की इमोजी डे पर भी कई जगहों पर सेमिनार, कार्यक्रम और कंपीटशन ऑर्गेनाइज किए जाते हैं। इस मौके पर इमोजी के बारे में बताया जाता है। भारत के यूजर्स 5 इमोजी का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। इनमें खुशी के आंसू, आंखों में दिल के साथ मुस्कुराता हुआ चेहरा, नमस्कार, खुशी और दिल के इमोजी शामिल हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक और फेसबुक मैसेंजर पर रोज 2,300 इमोजी का लोग इस्तेमाल करते हैं। फेसबुक पर कुल 2,800 इमोजी हैं। इसके अलावा पूरी दुनिया में रोज 900 मिलियन इमोजी ऐसे भेजे जाते हैं जिनके साथ कोई टेक्स्ट (शब्द) नहीं होता। सबसे पहले एप्पल ने आईफोन के कीबोर्ड पर इसे बनाया। आधिकारिक यूनिकोड स्टैंडर्ड लिस्ट के अनुसार कुल 2,823 इमोजी हैं।

साल 2015 में 17 जुलाई को वर्ल्ड इमोजी डे पर ट्विटर (Twitter Emoji)की चिड़िया का इमोजी टॉप ट्रेंड में शामिल था।ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी में इमोजी (Emoji) को कोर्स के रूप में शामिल है।किंग्स कॉलेज, एडिनबर्ग और कार्डिफ समेत यूनिवर्सिटी के भाषा, मार्केटिंग, मनोविज्ञान और राजनीति के पाठ्यक्रम में इमोजी भी हिस्सा होगी।

दुनिया भर में 17 जुलाई को वर्ल्ड इमोजी डे सेलिब्रेट किया जाता है। साल 2014 से हर साल 17 जुलाई को वर्ल्ड इमोजी डे मनाया जा रहा है।वर्ल्ड इमोजी डे की शुरुआत पीटर्सबर्ग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जेरेमी बर्ग ने की थी। फादर ऑफ इमोजी कहे जाने वाले शिगेताका कुरीता अर्थशास्त्र के छात्र थे। वे कोइ डिजाइनर नहीं थे, फिर भी एक मोबाइल इंटरनेट सर्विस के लिए उन्होंने इमोजी का सेट तैयार किया था। मोबाइल इंटरनेट से ईमेल भेजने के लिए कैरेक्टर की संख्या सिर्फ 250 तक ही सीमित थी।

कुरीता को लगा कि कम शब्दों में अपनी बात कहने के लिए इमोजी (Emoji) सबसे अच्छा तरीका हो सकते हैं। इसलिए ईमेल में शब्दों की जगह इमोजी का इस्तेमाल शुरू होने लगा। साल 1990 में इमोजी की शुरुआत हुई। लेकिन पहला इमोजी दिवस साल 2014 में बनाया गया था। इस हिसाब से इस बार इस दिवस की आठवीं सालगिरह है। हालांकि इसकी शुरुआत काफी पहले हुई थी।

-- राजीव गुप्ता/आगरा

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in