इक प्रेम दिन, आयात हमने कर लिया...

इक प्रेम दिन, आयात हमने कर लिया...

भूल परिचय, स्वयं को अज्ञात हमने कर लिया

और खुद पर खुद, कुठाराघात हमने कर लिया

जहां राधा कृष्ण, शाश्वत प्रणय के प्रतीक हैं

वहीं पर इक प्रेम दिन, आयात हमने कर लिया

-- डॉ. कर्नल वी पी सिंह, पुने, महाराष्ट्र

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in