नड्डा ने अपनी नई सेना के साथ बिहार-मध्य प्रदेश के चुनावों के लिए किया एलान-ए जंग

नड्डा ने अपनी नई सेना के साथ बिहार-मध्य प्रदेश के चुनावों के लिए किया एलान-ए जंग

आखिरकार आठ महीने बाद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा अपनी 'पूरी रंगत' में दिखाई दिए । कोरोना वायरस की वजह से शांत रहे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को बिहार विधानसभा और मध्य प्रदेश के उपचुनाव ने शनिवार को आक्रामक अंदाज में ला दिया । 'आठ महीने पहले जेपी नड्डा को भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया था उसके बाद हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार के बाद नड्डा को हताशा हाथ लगी थी' । लेकिन अब 'बिहार विधानसभा चुनाव की शुक्रवार को तारीखों के एलान के एक दिन बाद ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मोर्चा संभाल लिया है '।

आज उन्होंने 'अपनी दमदार सेना तैयार कर दी है' । जेपी नड्डा की बिहार विधानसभा चुनाव में जेडीयू के साथ सत्ता में वापसी और मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की सरकार बचाए रखने की सबसे बड़ी चुनौती होगी । भाजपा के अध्यक्ष नड्डा ने आज जो अपनी नई टीम तैयार की है बेहद ही आक्रमक है । आइए आपको बताते हैं जेपी नड्डा की नई टीम में कौन-कौन तेज तर्रार नेता शामिल किए गए हैं ।‌ भाजपा की राष्‍ट्रीय टीम में छत्‍तीसगढ़ के पूर्व मुख्‍यमंत्री रमन सिंह, राजस्‍थान की पूर्व मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, झारखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री रघुवर दास और पश्चिम बंगाल में भाजपा के चर्चित चेहरे मुकुल रॉय को राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष के तौर पर बड़ी जिम्‍मेदारी मिली है।

बिहार जहां आगामी विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं वहां से सांसद राधा मोहन सिंह को भी राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष जैसी बड़ी जिम्‍मेदारी मिली है। नड्डा ने भविष्य की राजनीति को ध्यान में रखते हुए पार्टी ने एक तरह से युवा नेताओं को महत्वपूर्ण पदों पर बैठाया है।

पार्टी उपाध्यक्ष, महासचिव, सह सचिव, जैसे पदों पर अधिकतर युवाओं को कमान सौंपी गई हैं। नए बदलाव में 12 राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, 9 महासचिव और 13 राष्ट्रीय सचिव नियुक्त किए गए हैं। नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी में कई नए चेहरे को जगह दी गई है तो वहीं कई दिग्गज बाहर हो गए हैं। दिग्गज नेता राम माधव और अनिल जैन को नई टीम में जगह नहीं मिली है। मुरलीधर राव का नाम भी नई लिस्ट से बाहर है। वहीं सीटी रवि और तरुण चुग नए महासचिव बनाए गए हैं।

इस बार भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा कोई मौका नहीं गंवाना चाहते थे

इस साल फरवरी महीने में दिल्ली विधानसभा चुनाव भारतीय जनता पार्टी के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की अगुवाई में हुए थे । लेकिन दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा की करारी हार के बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पहली परीक्षा में ही फेल हो गए थे ।

इस बार जेपी नड्डा ने अपनी तैयारी करके दिखा दिया है कि वह अबकी बार कोई मौका गंवाना नहीं चाहते हैं । भाजपा अध्‍यक्ष ने अपनी नई टीम का एलान ऐसे वक्‍त में किया है जब बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का एलान किया जा चुका है। देश के कई राज्‍यों में लोकसभा और विधानसभा की सीटों पर उपचुनाव भी होने वाले हैं।

बिहार विधानसभा चुनाव तीन चरणों में 28 अक्टूबर, तीन नवंबर और सात नवंबर को होंगे। मतगणना 10 नवंबर को होगी। यही नहीं मध्‍य प्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों पर भी उपचुनाव होने वाले हैं। मौजूदा वक्‍त बिहार में भी भाजपा और जदयू की गठबंधन सरकार है।

बिहार में भाजपा और जदयू के सामने दोबारा सत्‍ता हासिल करने जबकि मध्‍य प्रदेश में भाजपा के सामने सत्‍ता में बने रहने की चुनौती है। ऐसे में भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा के लिए भी अपनी नई टीम के प्रभाव और उसके दबदबे को साबित करने की चुनौती होगी।

बेंगलुरु के भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्य को युवा मोर्चा का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया

इन सबके अलावा पार्टी ने 23 प्रवक्ताओं के नाम भी जारी किए हैं। संगठन में हुए बदलाव में कुछ पुराने लोगों को बनाए रखा है और अधिकतर नए युवा चेहरों को जगह दी गई है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने युवाओं पर खास फोकस करने के लिए बेंगलुरु के युवा भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्य को भारतीय जनता युवा मोर्चा का का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया है । अभी दिवंगत और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रमोद महाजन की पुत्री पूनम महाजन इस पद पर तैनात थीं ।

यहां हम आपको बता दें कि वरिष्ठ नेताओं के साथ मंथन के बाद जे पी नड्डा ने राष्ट्रीय पदाधिकारियों की एक लिस्ट कुछ महीने पहले ही तैयार कर ली थी। लेकिन कोरोना महामारी के कारण पार्टी आलाकमान न तो राष्ट्रीय कार्यकारिणी और परिषद की बैठक बुलाकर नई टीम को हरी झंडी दे सकता था और न ही राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक बुला सकता था ।

इसलिए नई टीम का एलान टाल दिया गया था। जेपी नड्डा पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह दोनों ही बहुत भरोसा करते हैं । बिहार चुनाव और मध्य प्रदेश में उपचुनाव जिताने की जिम्मेदारी पीएम मोदी और अमित शाह ने जेपी नड्डा पर ही डाल रखी है ।

Related Stories

The News Agency
www.thenewsagency.in