स्फीहा ने मध्य प्रदेश में आदिवासियों के उत्थान की अपनी पहल  को आगे बढ़ाया

स्फीहा ने मध्य प्रदेश में आदिवासियों के उत्थान की अपनी पहल को आगे बढ़ाया

स्फीहा, (एक गैर सरकारी संस्था) जिसने आगरा में अपना संचालन शुरू किया और अब दुनिया भर के कई शहरों में काम कर रही है, ने हाल ही में मध्य प्रदेश के हरदा जिले में राहत गाँव तहसील के आदिवासियों के उत्थान के लिए एक संकल्प लिया। वे पहले ही इस महीने की शुरुआत में एक सफल प्रशिक्षण और सूचना शिविर आयोजित कर चुकी हैं।

स्फीहा के अधिकारी और स्वयंसेवकों अपने संकल्प को आगे बढ़ाते हुए गत सप्तहांत को पुनः भूजल और सौर ऊर्जा की विशेषज्ञों की एक टीम के साथ राहत गाँव तहसील के टेमरूबहार, गोलर्धाना और मोगराधना गांवों में निरक्षण और सर्वेक्षण करने पहुंचे। क्षेत्र में पानी की कमी और सड़कों पर रात को रौशनी न होने के कारण काफी समस्याएं है, जिनका स्फीहा वैज्ञानिक तरीकों से समाधान करने की कोशिश कर रही है।

केंद्रीय भूजल बोर्ड के उपग्रह मानचित्रों के मद्दद से भूजल के स्रोत्र और जल पुनर्भरण की विस्तृत योजना बनाने का प्रयास किया जा रहा है जिससे इस समस्या का एक स्थायी निस्तारण हो सके। विशेषज्ञों की टीम द्वारा 8 गावो में सोलर स्ट्रीट लाइट के लिए स्थलों की भी पहचान की गई है, और स्फीहा ने अगले दो महीने के अंत तक इन लाइटों को लगाने की योजना बनाई है।

पशुओं से स्वास्थ्य और दूध की उपज में सुधार के लिए एजोला खेती का प्रदर्शन भी किया गया और 3 गांवों, टेमरूबहार, मोगराधना व मारापदोल में एजोला की खेती शुरु की गई । प्रोटीन युक्त आहार दूध की गुणवत्ता और मात्रा में सुधार करेगा। इस पहल की भी ग्रामीणों ने बहुत सराहना की।

टेमरूबहार में एक स्थानीय शिक्षक की मद्दद से बेरोजगार और पुलिस, फ़ौज और अन्य सरकारी नौकरियों में भर्ती के इच्छुक युवकों को प्रशिक्षण देने का काम पह्ले से ही शुरू हो चुका है, जिसमें वहां की पंचायत का भी योगदान है । उन्हें पूर्व नियोजित शिविरों में स्फीहा के विशेषज्ञों द्वारा मार्गदर्शन भी दिया जाएगा । इसके लिए स्पीहा अधिकारियों ने टेमरूबहार, के ग्राम अधिकारियों को कुछ अध्ययन सामग्री भी दी जिससे बच्चों को लिखित परीक्षा की तैयारी में मदद मिलेगी ।

इस तरह के प्रशिक्षण केंद्र क्षेत्र के और भी गावो में शुरू किये जायेंगे । स्फीहा टीम ने निजी नौकरियों के लिए टेलीफोनिक साक्षात्कार की भी व्यवस्था की और 6 बेरोजगार युवाओं को प्राइवेट जॉब के ऑफर भी दिए गए । यह 6 लोग दिवाली उपरांत अपनी नौकरी ज्वाइन कर लेंगे । तेमरुबहार में स्पीहा द्वारा वॉलीबॉल नेट और कोर्ट पहले से ही स्थापित किया गया है और बच्चे, युवा और सभी आयु वर्ग के इसका अच्छा उपयोग कर रहे हैं। स्

Related Stories

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in