केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा के हैदराबाद केंद्र के नवनिर्मित भवन का अक्तूबर 5 को होगा उद्घाटन

केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा के हैदराबाद केंद्र के नवनिर्मित भवन का अक्तूबर 5 को होगा उद्घाटन

आगरा।। आने वाले सोमवार को शिक्षा मंत्री, भारत सरकार और केंद्रीय हिंदी शिक्षण मंडल, आगरा के अध्यक्ष डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ के कर कमलों द्वारा केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा के क्षेत्रीय केंद्र हैदराबाद के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन होगा।

उद्घाटन कार्यक्रम ऑनलाइन पद्धति से संपन्न होगा। कार्यक्रम के अध्यक्ष के रूप में सी.एच. मल्ला रेड्डी, श्रम, रोजगार महिला और बाल विकास मंत्री, तेलंगाना सरकार, विशिष्ट अतिथि के रूप में अमित खरे, शिक्षा सचिव, भारत सरकार, संजय धोत्रे, शिक्षा राज्य मंत्री, भारत सरकार तथा अनिल शर्मा ‘जोशी’, माननीय उपाध्यक्ष, केंद्रीय हिंदी शिक्षण मंडल, आगरा। सान्निध्य ए. रेवंत रेड्डी, माननीय सांसद, मलकाजगिरी, सिकंदराबाद ; जी. सायन्ना, विधायक, सिकंदराबाद छावनी ; एन. रामचंदर राव, माननीय विधायक, हैदराबाद, तेलंगाना ।प्रो. बीना शर्मा, निदेशक, केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा तथा केंद्रीय हिंदी संस्थान परिवार के सभी सदस्य और देशभर के अनेक सुधीजन सम्मिलित होंगे।

केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा, शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा 1960 में स्थापित अखिल भारतीय स्तर की एक स्वायत्तशासी संस्था है। इसका उद्देश्य अखिल भारतीय स्तर एवं विदेशों में हिंदी का प्रचार-प्रसार करना है। केंद्रीय हिंदी संस्थान का मुख्यालय आगरा (उ.प्र.) में स्थित है। इसके आठ क्षेत्रीय केंद्र हैं – दिल्ली, हैदराबाद, गुवाहाटी, शिलांग, मैसूर, दीमापुर, भुवनेश्वर तथा अहमदाबाद।

केंद्रीय हिंदी संस्थान के क्षेत्रीय केंद्र हैदराबाद की स्थापना 1976 में हुई। इस केंद्र द्वारा आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, गोवा, महाराष्ट्र तथा केंद्रशासित प्रदेश – पांडिचेरी एवं अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में सेवारत हिंदी शिक्षकों के लिए लघु-अवधीय नवीकरण पाठ्यक्रम, संगोष्ठियाँ और कार्यशालाएँ आयोजित किए जाते हैं।

दो वर्ष तक विद्यार्थी केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा में रहकर हिंदी ज्ञान के साथ ही भारतीय संस्कृति से भी परिचित होते हैं।

हैदराबाद केंद्र द्वारा दक्षिण भारत के राज्यों में हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए अनेक प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इसी क्रम में दक्षिण भारत की प्रतिभाओं को सामने लाने, वहाँ की कला और संस्कृति को प्रसार देने, वहाँ के जनमानस से जुड़ने के लिए ‘समन्वय दक्षिण’ पत्रिका का प्रकाशन किया जाता है। केंद्रीय हिंदी संस्थान हिंदी शिक्षण निष्णात, हिंदी शिक्षण पारंगत तथा हिंदी शिक्षण प्रवीण पाठ्यक्रमों में अध्ययन हेतु दक्षिण भारत सहित समूचे हिंदीतर क्षेत्रों के विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति पर मुख्यालय, आगरा आमंत्रित करता है।

षेत्रीय केंद्र हैदराबाद ने 1976 से अभी तक किराए के भवन से अपनी गतिविधियों को संपन्न किया। तेलंगाना सरकार से प्राप्त भूखंड पर भूतल सहित चार मंजिला भवन का निर्माण 1000 वर्ग गज में लगभग 5.67 करोड़ रुपए की लागत से केंद्रीय लोक निर्माण विभाग, हैदराबाद के माध्यम से करवाया गया है।

Related Stories

The News Agency
www.thenewsagency.in