प्रयागराज में आज़ादी का अमृत महोत्सव का आयोजन

प्रयागराज में आज़ादी का अमृत महोत्सव का आयोजन

प्रयागराज || भारत वर्ष के आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर तीर्थराज प्रयागराज में स्थित आर्यावर्त के उत्तर मध्य भाग की संस्कृति एवं सांस्कृतिक धरोहर को संरक्षण एवं संवर्धन प्रदान करने के उद्देश्य से भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा स्थापित उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र ने ’’आजादी के अमृत महोत्सव’’ श्रंखला के अन्तर्गत दिनांक 13 से 15 अगस्त 2021 तीन दिवसीय देशभक्ति पर आधारित आनलाइन प्रस्तुतियों का आयोजन किया।

जिसे केन्द्र के फेसबुक और यूटूब चैनल पर तिथिवार प्रसारित किया गया। श्रंखला के अन्तर्गत प्रथम दिवस देशभक्ति गीतों की लड़ी के साथ समूह नृत्य बाल कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किया गया प्रस्तुति के शुभारम्भ में राघव शंकर द्वारा बांसुरी की धुन पर जहां डाल-डाल पर सोने की चिड़िया व वन्दे मातरम की प्रस्तुति की उसके पश्चात् राघवी श्रीवास्तव, पार्थ सिंह, अहान श्रीवास्तव, वासु गुप्ता, चिन्मई श्री, अरूनधती सिंह द्वारा मधुर आवाज व गाने के एक अनूठे अन्दाज में ’’लहराता शान से है आसमा में कौम का परचम’’ एवं ’’है देश महान हमारा जो लड़ नहीं सकेगा वो आगे नहीं बढ़ेगा’’ की प्रस्तुति को कशिश शुक्ला, कशिश पाल, प्रिया पाण्डेय, अक्षरा पटेल ने अपनी मीठी आवाज से सजाया साथ ही अंजली भारद्वाज के दल के बाल कलाकारों ने सावनी कजरी ’’काइसे खेलन जैइबू सावन में कजरिया बदरिया घिर आई ननदी’’ पर भाव नृत्य की प्रस्तुति की कार्यक्रम के अगले पायदान पर ’’हर करम अपना करेंगे ऐ वतन तेरे लिए’’ गीत पर प्रज्ञा रावल ग्रुप के बाल कलाकारों ने खूबसूरत भाव नृत्य प्रस्तुत किया वहीं रवि श्रीवास्तव दल के बाल कलाकारों ने ’’फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी ’’ नृत्य के माध्यम से अपनी प्रस्तुति दी|

वहीं रौशन पाण्डेय की शिष्या सीमा त्रिपाठी, माही रावत, करनवीर चैहान, शुभी पाण्डेय, हश्मीत कौर, द्वारा मधुर गीत ’’टिकवा लगाला बाबू की माटी के ’’ आदि गीतों की प्रस्तुति दी गयी वहीं श्वेता श्रीवास्तव के दल के बाल कलाकारों ने नृत्य नाटिका की प्रस्तुति से आजादी के अमृत महोत्सव की श्रंखला में अपनी उपस्थित दर्ज करायी। श्रंखला के अगले पायदान द्वितीय दिवस के प्रसारण में प्रयागराज के युवा बिरहा गायक अभयराज यादव द्वारा देशभक्ति से ओत-प्रोत गीतों के साथ ’’बम-बम बोल रहा है काशी’’ की प्रस्तुति दी। उत्तर प्रदेश के लोकनाट्य नौटंकी शैली में शहीद चन्द्रशेखर आजाद के जीवन की घटनाओं को संतोष कुमार एव ंदल कौशाम्बी द्वारा प्रस्तुत किया गया।

स्वतंन्त्रता दिवस के अवसर पर प्रातः केन्द्र के निदेशक प्रो॰ सुरेश शर्मा द्वारा केन्द्र परिसर में राष्ट्रध्वज फहरा कर राष्ट्रगान की परम्परा का निर्वहन करते हुए ’’आजादी के अमृत महोत्सव’’ पर प्रकाश डालते हुए प्रयागराज के सभी कला प्रेमियों को स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर केन्द्र परिवार की ओर से हार्दिक शुभ कामनाएं दी गयी केन्द्र के फेसबुक व युटूब चैनल पर आजादी का अमृत महोत्सव के तृतीय प्रसारण के अन्तर्गत उन्नाव के पंकज तिवारी द्वारा पं॰ चन्द्र शेखर आजाद के जीवन यात्रा को आल्हा शैली में ’’आजाद परिंदे ’’ शीर्षक के अन्तर्गत प्रस्तुत किया गया साथ ही वाराणसी के राजेन्द्र प्रसाद एवं साथी कलाकारों द्वारा सुभाष चन्द्र बोस पर आधारित कठपुतली शैली में आजादी के वीर की प्रस्तुति तथा समसामयिक नृत्यों की श्रंखला में सोनाली चक्रवर्ती एवं समूह तथा दादा पाण्डेय समूह द्वारा विभिन्न देशभक्ति गीतों की मालाओं पर नृत्य प्रस्तुत किया गया तीनों दिवसो के कार्यक्रमों को केन्द्र के फेसबुक व युटूब चैनल पर भारी संख्या में लोगों की बधाइयां व टिप्पणियां तथा शुभसंदेश प्राप्त हुए।

Related Stories

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in