अफसरों ने नहीं सुनी गुहार तो कलक्ट्रेट में किसान ने खा ली कीटनाशक दवा, हालत गंभीर

अफसरों ने नहीं सुनी गुहार तो कलक्ट्रेट में किसान ने खा ली कीटनाशक दवा, हालत गंभीर

मैनपुरी, सितम्बर १३ (TNA) किशनी निवासी एक किसान सोमवार को कलक्ट्रेट में जिलाधिकारी से मुलाकात करने आया था लेकिन अचानक परिसर में उसने जहर का सेवन कर लिया। किसान का आरोप है कि सपा नेता ने उसकी जमीन पर कब्जा कर लिया है। वो न्याय के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है। उसकी शिकायत पर सुनवाई नहीं हो रही है।"

 मैनपुरी के कलक्ट्रेट परिसर में सोमवार को एक किसान ने आत्महत्या करने के इरादे से कीटनाशक दवा का सेवन कर लिया। यह देख कर आसपास मौजूद लोगों के होश उड़ गए। हालत बिगड़ने पर एसडीएम ने किसान को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। पीड़ित किसान का आरोप है कि एक सपा नेता ने उसकी जमीन पर कब्जा कर लिया है।

वो न्याय के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है। लेकिन उसे न्याय नहीं मिल रहा है। इससे मजबूर होकर उसने यह कदम उठाया।  थाना किशनी क्षेत्र के गांव बोझा निवासी किसान विमलेश कुमार से कुछ दिन पहले गांव के रहने वाले एक सपा नेता ने कस्बा में प्लॉट देने का वायदा कर उसकी जमीन का बैनामा करा लिया। सपा नेता कहा था कि रजिस्ट्री ऑफिस में कर देना कि उसे रुपया मिल चुका है। विमलेश के अनुसार उसने सपा नेता के कहे अनुसार सभी काम कर दिए।

सपा नेता पर लगाए हैं ये आरोप

किसान का आरोप है कि बैनामा करवाने के बाद अब सपा नेता न तो प्लॉट दे रहा है और न ही जमीन वापस कर रहा है। विरोध करने पर गाली-गलौज और जान से मारने की धमकी देता है। परेशान किसान ने जमीन पर कब्जा की शिकायत को लेकर अधिकारियों के चक्कर लगाने शुरू कर दिए।

करीब दो माह का समय बीता चुका है, लेकिन सिवाय आश्वासन के उसे कुछ भी नहीं मिला। रविवार को नामजद ने विमलेश को कमरे में बंद कर पिटाई की। इसके बाद सोमवार को विमलेश ने डीएम कार्यालय आकर शिकायत की, वहां से भी सिर्फ आश्वासन मिला। इससे किसान के सब्र का बांध टूट गया। उसने कार्यालय के बाहर आकर कीटनाशक दवा खा ली। हालत बिगड़ने पर एसडीएम ने किसान को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।

Related Stories

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in