मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली में भारत टेक्स-2024 में हस्तशिल्पियों एवं कारीगरों द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनियों का अवलोकन किया

मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली में भारत टेक्स-2024 में हस्तशिल्पियों एवं कारीगरों द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनियों का अवलोकन किया

लखनऊ, मार्च 1 (TNA) मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारत टेक्स-2024 में उत्तर प्रदेश को पार्टनर स्टेट बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में यह चार दिवसीय आयोजन भारत मण्डपम तथा यशोभूमि में एक साथ किया गया है। प्रधानमंत्री की यह पहल अभिनन्दनीय है। इस आयोजन से देश व प्रदेश के कपड़ा उद्योग तथा हस्तशिल्प से जुड़े उद्यमियों को एक व्यापक बाजार मिलेगा, मुख्यमंत्री ने आगे कहा ।

मुख्यमंत्री गुरुवार को नई दिल्ली के भारत मण्डपम (प्रगति मैदान) में आयोजित भारत टेक्स-2024 में मीडिया प्रतिनिधियों को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने भारत टेक्स-2024 में देश के अलग-अलग हिस्सों और उत्तर प्रदेश के हस्तशिल्पियों एवं कारीगरों द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनियों का अवलोकन किया। उन्होंने भारत टेक्स-2024 के यू0पी0 पवेलियन में आए सभी बायर्स और विजिटर्स का स्वागत किया।

योगी ने कहा कि इस अन्तरराष्ट्रीय प्रदर्शनी का आयोजन टेक्सटाइल क्षेत्र की वर्तमान व भविष्य की सम्भावनाओं को ध्यान में रखकर किया गया है। देश में कृषि क्षेत्र के बाद टेक्सटाइल क्षेत्र में ही रोजगार, विकास व तकनीक की सर्वाधिक सम्भावना है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि यह आयोजन प्रधानमंत्री जी के विजन के अनुरूप अपने लक्ष्यों को अवश्य प्राप्त करेगा।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा देश को 7 पी0एम0 मित्र पार्क दिए गए हैं। इसमें से एक प्रदेश के जनपद लखनऊ तथा हरदोई में 1 हजार एकड़ भूमि में विकसित किया जाएगा। प्रदेश में रेडीमेड गारमेंट्स की ढेर सारी सम्भावनाएं हैं। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही प्रारम्भ की गयी है। ग्रेटर नोएडा के बाद प्रदेश में 4 अन्य स्थानों पर फ्लैटेड फैक्ट्री का विकास किया जा रहा है। प्रदेश की लखनऊ की चिकनकारी, बरेली की जरी-जरदोजी, भदोही का कार्पेट, सीतापुर की दरियाँ, सिल्क विश्व विख्यात हैं।

भारत विश्व को 17 हजार करोड़ रुपये से अधिक की कारपेट निर्यात करता है, जिसमें लगभग 60 प्रतिशत का योगदान प्रदेश में भदोही, मीरजापुर एवं वाराणसी से होता है। प्रदेश सरकार द्वारा लखनऊ की चिकनकारी, सीतापुर की दरी, बरेली की जरी-जरदोजी, भदोही की कालीन को प्रमोट करने का कार्य किया गया है। यह सभी रोजगार सृजन के महत्वपूर्ण माध्यम हैं। आज वैश्विक टेक्सटाइल इण्डस्ट्री भारत की ओर आशा भरी नजरों से देख रही है।

Related Stories

No stories found.
logo
The News Agency
www.thenewsagency.in