यूपी के हर विधानसभा में दस हजार नए वोटर जोड़ेगी भाजपा, चलेगा वोटर चेतना अभियान!

यूपी के हर विधानसभा में दस हजार नए वोटर जोड़ेगी भाजपा, चलेगा वोटर चेतना अभियान!

लखनऊ, अगस्त 22 (TNA) लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों को जीतने के लिए सूबे की हर विधानसभा क्षेत्र में वोटर चेतना अभियान चलाने का फैसला किया है. इस अभियान के तहत हर विधानसभा क्षेत्र में 10 हजार नए वोटर्स जोड़ने का टारगेट तय किया गया है. कुल मिलाकर यूपी की 403 विधानसभा सीटों पर 40 लाख 30 हजार नए वोटर लोकसभा चुनावों के पहले जोड़ेगी भाजपा.

मंगलावर को इस अभियान को प्रदेश भर में चलाने को लेकर पार्टी मुख्यालय में एक बड़ी बैठक हुई. बैठक में अभियान के मकसद को स्पष्ट किया गया. यह भी बताया गया कि कैसे युवा पीढ़ी के लोगों पर फोकस करते हुये नए वोटर्स को जोड़ा जाएगा. उनका नाम वोटर लिस्ट में जोड़ा जाएगा. ताकि राज्य की सभी 80 सीटों को जीतने का लक्ष्य पूरा किया जा सके.

वोटर चेतना अभियान के जरिए किए जाएँगे यह कार्य :

भाजपा नेताओं के अनुसार, भाजपा मुख्यालय में वोटर चेतना अभियान को लेकर पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री दुष्यंत गौतम ने सूबे के सीनियर नेताओं के साथ बैठक की. इस बैठक में उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के प्रभारी, अध्यक्ष, जिला मतदाता सूची प्रमुख, क्षेत्रीय अध्यक्ष और प्रदेश टीम के सदस्य भी मौजूद थे. इन सभी को बताया गया कि उन्हे मतदाता सूची में लोगों का नाम शामिल कराने के लिए वोटर चेतना अभियान के तहत क्या-क्या करना है. और वह अपने-अपने क्षेत्र में जन चेतना अभियान को धरातल पर वह कैसे उतारें, यह भी बताया गया.

पूरे प्रदेश में वोटर चेतना अभियान के तहत हर विधानसभा में दस हजार वोटर्स को पार्टी से जोड़ने का टारगेट तय किया गया. इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए सूबे के युवा वोटर को गाइड करने के लिए हर विधानसभा, मंडल और बूथ स्तर पर इस अभियान को चलाया जाएगा.

भाजपा नेताओं के मुताबिक वोटर चेतना अभियान के तहत पार्टी कार्यकर्ता तथा पदाधिकारियों का सबसे पहला लक्ष्य इस 23 अगस्त से 1 जनवरी 2024 तक 18 साल की उम्र पूरी कर चुके लोगों का वोटर पहचान पत्र बनवाना है. सूबे की हर विधानसभा सीट की वोटर लिस्ट में नए वोटर का नाम शामिल कराने की जिम्मेदारी पार्टी कार्यकर्ताओं को दी जाए. फिर उसके अनुसार पार्टी के नेता नए वोटर का नाम वोटर लिस्ट में शामिल कराएं.

ऐसा करने पर ही नए वोटरों का झुकाव भाजपा की तरफ होगा. इसके अलावा बैठक में बताया गया कि हर कार्यकर्ता को अपने क्षेत्र की वोटर लिस्ट को चेक करना होगा, ताकि जिन लोगों का नाम वोटर लिस्ट में कट गया है, उसने वोटर लिस्ट में शामिल करवाया जा सके. जो वोटर एक जगह से दूसरी जगह चले गए हैं, उनके नाम वोटर लिस्ट में हटाए जाने का दायित्व भी पार्टी कार्यकर्ताओं को सौंपा गया है.

पूरे प्रदेश में वोटर चेतना अभियान के तहत हर विधानसभा में दस हजार वोटर्स को पार्टी से जोड़ने का टारगेट तय किया गया. इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए सूबे के युवा वोटर को गाइड करने के लिए हर विधानसभा, मंडल और बूथ स्तर पर इस अभियान को चलाया जाएगा. विधानसभा से बूथ तक टीम बनाई जाएंगी. वोटर चेतना अभियान के लिए बनाई गई पार्टी की एक टीम में 5-5 सदस्य शामिल होंगे. यही लोग पार्टी के साथ नए वोटर्स को जोड़ने का काम करेंगे.

यूपी में मतदाताओं की संख्या :

भाजपा नेताओं के अनुसार, बीते विधानसभा के चुनावों में सूबे में मतदाताओं की कुल संख्या 15,02,84,005 थी. इनमें से 24,03,296 मतदाता 80 वर्ष से अधिक आयु के थे. महिला पुरुष मतदाताओं की बात करें तो तब राज्य में पुरुष मतदाता की संख्या कुल 8,04,52,736 थी, जबकि महिलाओं की संख्या 6,98,22,416 थी. इस संख्या में अब इजाफा ही हुआ है.

ऐसे में नए वोटर को पार्टी से जोड़ने पर भाजपा में ज़ोर दिया जा रहा है. भाजपा के प्रवक्ता नवीन श्रीवास्तव के अनुसार, पार्टी समाज के हर व्यक्ति तक पहुँचने की नीति के तहत ही नए वोटर का मान मतदाता सूची में शामिल कराने पर और जिन लोगों का नाम मतदाता सूची से कट गए थे, उन्हें सूची में शामिल कराने के लिए ही यह अभियान चला रही है.

— राजेंद्र कुमार

logo
The News Agency
www.thenewsagency.in