दस साल पहले बना था चंदौली में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय पर अब भी पेड़ के नीचे पढ़ते हैं बच्चे

दस साल पहले बना था चंदौली में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय पर अब भी पेड़ के नीचे पढ़ते हैं बच्चे

चंदौली, अगस्त 18 (TNA) जनपद के नौगढ़ विकास खंड के गोड़टुटवा गांव के प्राथमिक विद्यालय की स्थापना के एक दशक से अधिक की हुई है। फिर भी विद्यालय का कोई भवन नहीं है ।इस लिए अभी तक बच्चों को कमरे के अंदर बैठकर पढ़ना तथा अध्यापकों को पढ़ाना नसीब नही हुआ। विद्यालय में पढ़ने वाले सभी बच्चे जाड़ा, गर्मी, बरसात में पेड़ के नीचे बैठकर पढ़ते हैं। खास बात यह है कि यह विद्यालय चकिया नौगढ़ मार्ग से बिल्कुल सटा हुआ है। तथा जनपद के सभी अधिकारी एवं राजनेताओं का आवागमन भी होता है।

तथा सबकी नजर पड़ना स्वाभाविक है। लेकिन किसी के जरिए इसके बारे में कोई कारवाई नहीं की गई। बता दें कि इस विद्यालय की 2008 में स्थापना हुई तो यह पेड़ के नीचे चलने लगा गोड़टुटवा के ग्राम प्रधान यशवंत सिंह ने बताया कि भवन निर्माण के लिए हमने कई बार अधिकारियों को लिखित आवेदन देकर मांग किया तथा 2008 में सरकारी पैसे से नींव डालकर कुछ जोड़ाई का काम हुआ फिर आपसी चंदा के सहयोग से भवन की दीवार खड़ी हो गई लेकिन वन विभाग उक्त जमीन को अपनी जमीन बताते हुए काम को रोक दिया और उस समय के तत्कालीन जिलाधिकारी तथा शिक्षा विभाग वन विभाग के आगे हांथ खड़े कर दिये। कोई सांसद, धिधायक, मंत्री भी कुछ नहीं कर पाये सभी लोग वन विभाग के आगे लाचार हो गए।

और वह आधा अधूरा बिना छत के बने भवन भी अपनी हाल पर आंसू बहा रहे हैं। और इस समय विद्यालय में पढ़ने वाले 22 बालक तथा 30 बालिका को एक प्रधानाध्यापक तथा एक सहायक अध्यापक दो शिक्षा मित्र पेड़ के नीचे बैठाकर पढा़ते हैं। विद्यालय के अध्यापकों की कुर्सी तथा मेज गांव में रखी बजाती है। तथा सुबह लाई जाती है। बरसात होने पर सर छिपाने के लिए कुछ भी नहीं रहता तथा छुट्टी करते हुए सभी को गांव के किसी घर का सहारा लेना पड़ता है।

-- आशुतोष तिवारी

Related Stories

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in