उत्तर प्रदेश सरकार से न्याय की उम्मीद छोड़ चुकी बेटियां आत्महत्या करने को मजबूर: संजय सिंह

उत्तर प्रदेश सरकार से न्याय की उम्मीद छोड़ चुकी बेटियां आत्महत्या करने को मजबूर: संजय सिंह

आने वाली 26 तारीख को सभी जिलों में महिलाओं को सुरक्षा देने की मांग को लेकर और अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी 'आप'

लखनऊ, 19 नवम्बर ।। योगी सरकार 73 सालो के शासन में पहली ऐसी सरकार है जहाँ न्याय न मिलने के चलते बेटियाँ आत्महत्या करने को मजबूर हो रही है। ये बात गुरुवार प्रदेश प्रभारी व राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने गोमती नगर स्थित कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान कहा।

उन्होंने उत्तर प्रदेश में हुई घटनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि पूरे उत्तर प्रदेश में महिलाओं व बच्चियों के आत्महत्या घटना सामने आ रही है। एक 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा ने छेड़खानी से परेशान होकर अपने खुद जला कर आत्महत्या कर लिया। इसके अलावा शामिली की महिला दरोगा एन्टी रोमियों व मिशन शक्ति की इंचार्ज है वो कह रही है कि मैं मिशन शक्ति को कैसे सफल बनाऊं मेरा पुलिस विभाग में खुद शोषण हो रहा है। जब पुलिस विभाग की महिलाएं ही सुरक्षित नहीं है तो आम जनता को सुरक्षा कहा से मिलेगी।

महराजगंज में एक दलित बेटी थाने रेप की शिकायत दर्ज कराने जाती है तो उसे पीटकर-पीटकर अधमरा कर कहते है समझौता कर लो, बस्ती में 4 दिन से लापता दलित बच्ची परिजन पुलिस से मदद की गुहार लगाती है लेकिन उन्हें न्याय नहीं मिलता, फतेहपुर में दो सगी बहनों का शव मिलता है, पुलिस केस को रफादफा करने को कहती है।

उन्होंने कहा मुख्यमंत्री योगी जी अगर इतने लाचार और नाकारा हो चुके है कि वो बेटियों के साथ हो रहे अपराध को नहीं रोक सकते तो उनको अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। आम आदमी पार्टी ने फैसला लिया है कि पूरे उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ हो रहे अपराध के खिलाफ आने वाली 26 तारीख को सभी जिलों में महिलाओं को सुरक्षा देने की मांग को लेकर और अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी।

उन्होंने कहा कि योगी की जी सरकार में आज किसी भी उम्र की बच्ची व महिलाएं सुरक्षित नहीं है। मुझे शर्म आती है कि योगी जी रेप जैसी जघन्य अपराध को रोकने के बजाये उत्तर प्रदेश से लेकर दिल्ली तक मिशन शक्ति के होर्डिंग्स लगाकर माताओं और बहनों की चिढ़ाने का काम कर रहे है।

उत्तर प्रदेश महिला विंग की अध्यक्ष नीलम यादव ने कहा कि योगी आदित्यनाथ जी के राज में आज हमारी बहन बेटियाँ खुद को सुरक्षित नहीं महसूस कर रही है। हर घण्टे यूपी में महिलाओं के साथ अपराध होर है है और पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है। आज हर दिन प्रदेश में योगी जी के मिशन शक्ति के हजारों टुकड़े हो रहे है। बीजेपी सरकार ने नारा दिया था 'बहुत हुआ महिलाओं पर अत्याचार, अबकी बार मोदी सरकार' !

तो मैं पूछने चाहूंगी कि है वो सरकार जो महिलाओं को सुरक्षा देने की बात करती थी? योगी आपके राज में बेटी आज सुरक्षित है नहीं है तो कहा से उन्हें पढ़िये? मुझे शर्म आती है कि मैं उत्तर प्रदेश की रहने वाली हूं और मैं अपनी प्रदेश की बेटियों की सुरक्षा नहीं दे पा रही हूँ। विज्ञापन व पोस्टर लगवाकर योगी जी सिर्फ अपना चेहरा चमकाने के प्रयास कर रहे है। योगी जी यदि आपकी कुर्सी नहीं सम्भल रही है तो अपने पद से इस्तीफा दे दीजिए।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता वैभव महेश्वरी ने कहा कि महिलाओं के साथ हो रहे अपराध के अलावा भी एक ऐसा मामला है उत्तर प्रदेश में जो गरीब मजदूरों की जान ले रही है। बिजली मीटर पर हुए घोटाले से परेशान बनारस के अशोक ने आत्महत्या कर ली, आज एक और ऐसा ही मामला सामने आया है जहाँ देवरिया जिले में रहने वाले एक व्यक्ति जो वेल्डिंग का काम कर अपना घर परिवार चलाते थे, उन्होंने कमर्शल कैटेगरी में बिजली कनेक्शन के लिए अप्लाई किया लेकिन बिजली विभाग ने उन्हें घरेलू विभाग में कनेक्शन दिया, शिकायत करने पर भी बिजली विभाग की तरफ से कोई राहत नहीं मिली और बाद में बिजली चोरी के नाम पर उन्हें 5 लाख रुपये का बिल दिया गया। उन्होंने ने बिजली ठीक करने की गुहार लगाई तो देवरिया जिले के जेई ने उनसे 2 लाख की मांग की। पीड़ित परिवार ने परेशान हो आत्महत्या करने की कोशिश की।

उन्होंने कहा एक तरफ उत्तर प्रदेश में बिजली बिल से परेशान लोग आत्महत्या करने को मजबूर है तो दूसरी तरफ दिल्ली के अंदर 200 यूनिट तक सरकार लोगों की फ्री बिजली उपलब्ध करा रही है। आम आदमी पार्टी ने एक हेल्पलाइन नम्बर जारी किया था 9956998866 इस नम्बर पर पूरे प्रदेश से लोग अपना बिजली बिल भेज रहे है। हम उनसे अपील कर है कि स्मार्ट मीटर लगने से तीन महीने पहले व तीन महीने बाद का बिल भेजिए हमें। 50℅ से ज्यादा इन बिलों में गड़बड़ी हुई है। तो कहा जा रहा है ये लूट का पैसा? पहले ही उत्तर प्रदेश में सबसे महंगी बिजली और और उसमें भी डकैत की जा रही है।

उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि स्मार्ट मीटर के नाम पर जो लूट हुई है उसे ब्याज समेत उपभोक्ताओं को वापस किया जाये। पुराने मीटर वापस लगाए जाएं। ऐसा ना करने पर आम आदमी पार्टी बड़े स्तर पर पूरे में इसके खिलाफ आंदोलन करेंगी।

Related Stories

The News Agency
www.thenewsagency.in