गायत्री ज्ञान मंदिर का ज्ञान यज्ञ अभियान के 347वाँ युगऋषि सम्पूर्ण वाङ्मय साहित्य की स्थापना

गायत्री ज्ञान मंदिर का ज्ञान यज्ञ अभियान के 347वाँ युगऋषि सम्पूर्ण वाङ्मय साहित्य की स्थापना

लखनऊ, अक्तूबर २२ (TNA) गायत्री ज्ञान मंदिर इंदिरा नगर, लखनऊ के विचार क्रान्ति ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत ‘‘गुरुकुल एकेडमी भूतनाथ इन्दिरा नगर लखनऊ’’ के केन्द्रीय पुस्तकालय में गायत्री परिवार के संस्थापक युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा रचित सम्पूर्ण 79 खण्डों का 347वाँ वाङ्मय साहित्य अपनी प्रिय जीवन साथी स्व0 मोहनी गुप्ता की स्मृति में एम.एल.गुप्ता ने भेंट किया साथ-साथ छात्र-छात्राओं एवं शिक्षक-शिक्षिकाओं को व्यक्तिगत रूप से भेंट किया।

इस अवसर पर वाङ्मय स्थापना अभियान के मुख्य संयोजक उमानंद शर्मा ने कहा कि ऋषि साहित्य मानवीय मूल्यों एवं व्यवसायिक नैतिक शिक्षा प्रदान करता है। डॉ. नरेन्द्र देव ने उपस्थितजनों को निरोगी जीवन जीने के ऋषि सूत्र दिये।

इस अवसर पर संस्थान के प्रधानाचार्या कल्पना सिंह, सीमा सिन्हा, सुसमा सेंगर, उमानन्द शर्मा, डॉ. नरेन्द्र देव, अनिल भटनागर, एवं शिक्षक-शिक्षिकाये, छात्र-छात्रायें अधिकारीगण इत्यादि मौजूद थे।

Related Stories

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in