गायत्री ज्ञान मंदिर का ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत में 354वाँ युगऋषि सम्पूर्ण वाङ्मय साहित्य की स्थापना

गायत्री ज्ञान मंदिर का ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत में 354वाँ युगऋषि सम्पूर्ण वाङ्मय साहित्य की स्थापना

लखनऊ, जनवरी २८ (TNA) गायत्री ज्ञान मंदिर इंदिरा नगर, लखनऊ के विचार क्रान्ति ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत ‘‘अजय कुमार गर्ग इंस्टीटूट ऑफ मैनेजमेन्ट, गाज़ियाबाद उ.प्र.के केन्द्रीय पुस्तकालय में गायत्री परिवार के संस्थापक युगऋषि पं0 श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा रचित सम्पूर्ण 79 खण्डों का 354वाँ वांड़मय साहित्य की स्थापित किया गया।

कोविड प्रोटोकाल के तहत उपरोक्त यह वाङ्मय साहित्य डॉ. नरेन्द्र देव ने लखनऊ स्थित गायत्री ज्ञान मंदिर, इन्दिरा नगर लखनऊ में संस्था के डीन ग्रुप कैप्टन प्रो0 आई. पी. शर्मा को भेंट किया। इस अवसर पर वाङ्मय स्थापना अभियान के मुख्य संयोजक उमानंद शर्मा ने कहा कि ऋषि साहित्य नैतिक शिक्षा प्रदान करता है। इण्डियन एअर फोर्स के रिटायर्ड ग्रुप कैपटन एवं संस्थान के डीन प्रो. आई.पी. शर्मा ने कहा कि हमारा कालेज पिछले 24 वर्षो से कार्यरत है, गाज़ियाबाद क्षेत्र में ए.के.टी.यू. के अनुसार बेस्ट कालेजों में एक है हमारे कालेज में प्रबन्ध तकनीकी के लगभग 5000 छात्र-छात्रायें, उच्च अधिकारी एवं संकाय सदस्य 450 हैं।

इस साहित्य का लाभ सभी को मिलेगा। यह ऋषि का बहुमूल्य साहित्य हमारे संस्थान के छात्र-छात्राओं का व्यक्तित्व परिकृत कर मानवीय जीवन की गरिमा का बोध करा सकता है। संस्था के महानिदेशक ग्रुप कैप्टन डॉ. आर.के. अग्रवाल ने दूरभाष से संस्था को वाङ्मय साहित्य भेंट करने के लिए गायत्री परिवार के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की। उमानन्द शर्मा के अतिरिक्त डॉ. नरेन्द्र देव, सर्व श्री अनिल भटनागर, देवेन्द्र सिंह, रोहित एवं उपस्थित थे।

Related Stories

No stories found.