अधिकारियों द्वारा चक्कर कटवाए जाने से ऊबी विधवा महिला ने मैनपुरी में डीआईओएस ऑफिस में किया हंगामा

अधिकारियों द्वारा चक्कर कटवाए जाने से ऊबी विधवा महिला ने मैनपुरी में डीआईओएस ऑफिस में किया हंगामा

मैनपुरी।। यूँ तो केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार मुक्त भारत की बाते करती है पर जमीनी हकीकत कुछ और ही बयान करती है। हकीकत तो यह है कि क़यी सरकारी कार्यालय में बिना पैसों के कोई काम नहीं होता।काम करवाने के एवज में कोई पीड़ित व्यक्ति अगर रिश्वत के रूप में अधिकारी को पैसे नहीं दे पाता तो उस पीड़ित व्यक्ति को विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों द्वारा चक्कर लगवाये जाते हैं।

ऐसा ही एक मामला जनपद मैनपुरी से सामने आया है जहाँ एक पीड़ित विधवा महिला अपने विभागीय काम की खातिर विभागीय कार्यालय के चक्कर काट काट कर थक गई तो उसके सब्र का बांध टूट गया और उस महिला ने सरकारी दफ्तर में जमकर हंगामा किया।महिला के हंगामे को देखकर कुर्सी पर बैठा अधिकारी भाग खड़ा हुआ।

जनपद मैनपुरी के डीआईओएस ऑफिस में आज एक महिला ने जमकर हंगामा किया।महिला ने अपना नाम मीना शर्मा बताया है। पीड़ित महिला मीना शर्मा का आरोप है कि उसके पति मुकेश शर्मा श्री नेहरू स्मारक इंटर कॉलेज में तैनात थे उनकी करीब चार साल पहले मृत्यु हो चुकी है।उनके पति का रुका हुआ एरियर का पैसे की प्राप्ति के लिए वह लगातार डीआईओएस ऑफिस के चक्कर लगा रही है।

पीड़ित महिला मीना शर्मा ने डीआईओएस ऑफिस के लेखाधिकारी पर बीस हजार रुपए रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है।महिला का कहना है कि वह चार साल से ऑफिस के चक्कर काटने को मजबूर है।उसके पति का रुका हुआ एरियर का पैसा आज तक नहीं मिला है।वहीं डीआईओएस मनोज कुमार का कहना है कि इस महिला के पति के एरियर के भुगतान की कार्यवाही इस कार्यालय से पूरी हो चुकी हैं।इस महिला के पति के एरियर के भुगतान के कागज मंडलीय कार्यालय डीडीआर के यहां भेजे जा चुके हैं।

-- मनीष मिश्रा

Related Stories

The News Agency
www.thenewsagency.in