शुभा मुद्गल, तीजन बाई, दुती चंद को छत्तीसगढ़ वीरनी पुरस्कार

शुभा मुद्गल, तीजन बाई, दुती चंद को छत्तीसगढ़ वीरनी पुरस्कार

छत्तीसगढ़ सरकार ने पहले  छत्तीसगढ़ वीरनी पुरस्कार के विजेताओं की घोषणा की है, यह पुरस्कार समारोह आंबेडकर जयंती 14 अप्रैल 2021 को वर्चुली आयोजित की जाएगी।  पुरस्कार प्राप्त करने वालों में तीजन बाई, दुती चंद, शुभा मुद्गल, रेबेका मम्मन जॉन, सब्बाह हाजी, राणा सफवी, बुधरी ताती, केशकुंवर पनिका, अमिता श्रीवास, लक्ष्मी करियारे, अमीरा शाह, याशिका दत्त, अंकिता गुप्ता, सविता अवस्थी शामिल हैं।

पुरस्कार विजेताओं में कानून, शिक्षा, साहित्य, इतिहास, संगीत, व्यवसाय, खेल-कूद, कानून प्रवर्तन और सामाजिक कार्य के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ और भारत के अन्य हिस्सों से महिलाओं को इन विभिन्न क्षेत्रों में देश और राज्य स्तर उनके उल्लेखनीय  और अग्रणी योगदान के लिए दिया गया है।

इन पुरस्कारों की स्थापना नगर निगम स्मार्ट सिटी रायपुर के महापौर  एजाज़ ढेबर एवं  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नेतृत्व में  मिलकर किया गया है। पुरस्कार विजेताओं को एक प्रतिमा चिन्ह  से नवाजा जाएगा जो स्थानीय लोक कलाओं, हस्तकला और कारीगरी का प्रतीक  है। छत्तीसगढ़ सरकार ने एक मास्टर कारीगर के साथ मिलकर विशेष रूप से डोकरा ट्राइबल आर्ट खोई हुई मोम कास्टिंग तकनीक का उपयोग कर एक ट्रॉफी कमीशन की है।

इस प्रतिमा में एक महिला को अपने-आप को मुकुट पहनाते हुए दिखाया गया है और यह प्रतिमा पुरस्कार चिन्ह छत्तीसगढ़ सरकार की महिलाओं के प्रति उनके सम्मान भावना  और प्रतिबद्धता का प्रतीक है। शॉल और साड़ियों को राज्य द्वारा संचालित महिलाओं के हथकरघा सहकारी से कमीशन किया गया है, और यह  क्षेत्र के प्रसिद्ध तुसर और कोसा सिल्क की समृद्ध परंपरा को विशेष डिजाइनों से बखूबी  दर्शाता  है। राज्य की असाधारण रीति रिवाजों और  परंपराओं को दर्शाने के अलावा, ये शॉल और साड़ी कई अन्य महत्वपूर्ण कहानियाँ  की झलक भी दिखाती हैं।

वीरनी पुरस्कारों  की घोषणा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर 8 मार्च 2021 की गई थी, इसके बाद अप्रैल 2021 के महीने में प्राप्तकर्ताओं की सूची जारी की गई है। यह पुरस्कार माननीय मुख्यमंत्री के अभिनंदन का प्रतीक है कि छत्तीसगढ़ सरकार भारतीय और छत्तीसगढ़ी समाज में महिलाओं को सशक्त बनाने और समान मनाने के  प्रति दृढ़ संकल्प है।

वह एक मुख्य विचार को चिन्हित  करते हुए कहते हैं  कि एक राष्ट्र, उसकी अर्थव्यवस्था और समाज केवल तभी प्रगति कर सकते हैं जब महिलाएं प्रगति करती हैं। ये पुरस्कार हर क्षेत्र में महिलाओं के अधिक से अधिक प्रतिनिधित्व की तत्काल आवश्यकता पर जोर और महत्व देगा।

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in