विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी मेहरबान, 'बिहार मालामाल'
Vernacular

विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी मेहरबान, 'बिहार मालामाल'

शम्भू नाथ गौतम

विधानसभा चुनाव की आहट होते ही बिहार के दिन फिर गए हैं, इस राज्य के लोगों के चेहरों पर खूब मुस्कुराहट आ गई है । चुनाव जीतने के लिए इस समय सभी पार्टियों ने चुनावी मैदान में पसीना बहाते हुए नजर आ रहे हैं। ऐसे में केंद्र की बीजेपी सरकार भी उतर चुकी है।

विधानसभा चुनाव से पहले 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेहरबानी से बिहार मालामाल होता जा रहा है' । पिछले एक माह से पीएम मोदी इस 'राज्य को सौगात पर सौगात' दिए जा रहे हैं । राज्य में चुनाव से पहले विकास योजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन का सिलसिला लगातार जारी है ।

'बिहार भी पिछले 5 वर्षों से ऐसे पलों की जैसे प्रतीक्षा कर रहा हो' । पीएम मोदी ने मंगलवार को बिहार के लिए भारी भरकम पैकेज देने की घोषणा की है । बता दें कि पीएम ने जिन परियोजनाओं की शुरुआत की है उनमें चार परियोजनाएं जल आपूर्ति से संबंधित, दो परियोजनाएं सीवरेज ट्रीटमेंट के लिए और एक परियोजना रिवर फ्रंट डेवलपमेंट से जुड़ी हुई है । सभी परियोजनाओं की लागत 541 करोड़ रुपये है ।

इसके अलावा पीएम मोदी ने बिहार के 'दरभंगा में एम्स' बनाने की भी घोषणा कर डाली ।‌ चुनाव से पहले मोदी की बिहार को दी गई ये तीसरी सौगात है ।हम आपको बता दें कि अभी बिहार में तीन और बड़ी परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास होना बाकी है ।

ऐसा ही मध्यप्रदेश में भी हो रहा है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस राज्य में भी विकास योजनाओं की बारिश करने में लगे हुए हैं । इसका बड़ा कारण यह है कि एमपी में भी 64 विधानसभा के उपचुनाव में से 27 सीटों पर चुनाव होने हैं । यानी इन दिनों केंद्र की भाजपा सरकार बिहार और मध्य प्रदेश में 'चुनावी तोहफे की बरसात' करने में लगी हुई है ।

बिहार चुनाव में एनडीए का चेहरा नीतीश कुमार लेकिन कमान संभाली पीएम मोदी ने

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव में एनडीए की ओर से भले ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चेहरे को आगे किया गया हो लेकिन बिना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी वैतरणी पार करने में एनडीए समर्थ नहीं है । तभी पीएम मोदी दिल्ली से बिहार के लिए 'विकास योजनाओं का श्रीगणेश' करने में लगे हुए हैं । इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर सराहना भी की । मोदी ने कहा है कि आधुनिक बिहार को गढ़ने में नीतीश कुमार की बड़ी भूमिका है।

उन्होंने कहा कि नए भारत, नए बिहार में सब कुछ तेजी से हो रहा है। पीएम ने कहा कि बदलते बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भी बहुत बड़ी भूमिका है। मोदी ने मुख्यमंत्री के कामकाज की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि पिछले 15 सालों में बिहार ने यह दिखाया है कि अगर सही सरकार हो, सही फैसले लिए जाएं, स्पष्ट नीति हो तो विकास होता है और हर एक तक पहुंचता भी है। उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार के कार्यकाल में खुले संस्थानों मे आज बिहार में शिक्षा के बड़े-बड़े केंद्र खुल रहे हैं।

नीतीश कुमार की बिहार को विशेष राज्य दर्जा देने की मांग पर पीएम मोदी से ठन गई थी

आज भले ही पीएम नरेंद्र मोदी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रशंसा करने में जुटे हुए हैं लेकिन अभी कुछ समय पहले ऐसा था जब दोनों में विशेष राज्य दर्जा की मांग को लेकर 'ठनी' हुई थी । नीतीश कुमार ने जब वर्ष 2015 में बिहार में तीसरी बार सत्ता संभाली थी तभी से वह केंद्र की भाजपा सरकार से राज्य को विशेष राज्य की दर्जा देने की मांग करते आ रहे थे । पिछले वर्ष नीतीश ने यह मांग और भी तेज कर दी थी ।‌

लेकिन फिर भी पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया । उसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश ने साफ किया कि भले केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा विशेष राज्य का दर्जा बिहार के वोटरों से वादा करने के बाद भी पूरा नहीं किया गया लेकिन वो अपनी मांग पर कायम रहेंगे। मोदी सरकार के इसी वर्ष जनवरी में एनआरसी और एनपीआर देश में लागू करने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संबंधों में खटास आ गई थी ।

हम आपको बता दें कि एनआरसी-एनपीआर को लेकर नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार का विरोध भी किया था। ‌ लेकिन अब बिहार विधानसभा चुनाव को देखते हुए पीएम मोदी और नीतीश कुमार एक दूसरे की प्रशंसा करने में लगे हुए हैं । वहीं पीएम मोदी बिहार हितों को ध्यान में रखते हुए सभी विकास योजनाएं जल्दी-जल्दी लागू कर रहे हैं ।

The News Agency
www.thenewsagency.in