राजधानी लखनऊ के बाद आगरा में आप की ऐतिहासिक "तिरंगा संकल्प यात्रा", उमड़ा जनसैलाब

राजधानी लखनऊ के बाद आगरा में आप की ऐतिहासिक "तिरंगा संकल्प यात्रा", उमड़ा जनसैलाब

आगरा, अगस्त २९ (TNA) तिरंगा की आन-बान-शान के नाम पर द‍िल्‍ली के उप मुख्‍यमंत्री मनीष स‍िसौद‍िया ने उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार पर करारा हमला बोला। प्रदेश प्रभारी संजय स‍िंह के नेतृत्‍व में राजधानी लखनऊ के बाद आगरा से शुरू हुई आम आदमी पार्टी की त‍िरंगा संकल्‍प यात्रा के उद्घाटन समारोह में मुख्‍य अतिथ‍ि मनीष स‍िसौद‍िया ने श‍िक्षा-स्‍वास्‍थ्‍य-बेरोजगारी जैसे मुद्दे उठाकर योगी सरकार को घेरा।

पत्रकार वार्ता में उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि आज़ादी को 75 साल हुए, ना उत्तर प्रदेश में अच्छे स्कूल ना अस्पताल हैं, ना महिलाओं को सुरक्षा ना किसानों को अधिकार है। भाजपा सरकार पूरी तरह फेल रही। आम आदमी पार्टी तिरंगा यात्रा निकाल संकल्प लेगी कि इस तिरंगे के नीचे रहने वाले हर बच्चे, महिला, बुजुर्ग और किसान को उनका अधिकार मिले।

आज हमारी आन बान शान तिरंगा, हमसे पूछता है कि आजादी के 75 वें साल में उत्तर प्रदेश में ऐसा क्यों हो रहा है कि एक प्रसूता को अस्पताल के बाहर बेड न मिलने के कारण सड़क पर एक बच्चे को जन्म देना पड़ता है! आज हमारी आन बान शान तिरंगा, हमसे पूछता है कि उत्तर प्रदेश में आजादी के 75 वें साल में भी सरकारी स्कूलों की हालत इतनी अच्छी क्यों नहीं हो पाई है कि एक गरीब से गरीब आदमी का बच्चा भी अच्छी शिक्षा पा सके!

आज आजादी के 75 साल साल बाद भी उत्तर प्रदेश में रोजगार की हालत यह क्यों नहीं हो पाई है कि पढ़ने लिखने के बाद एक किसान का, एक मजदूर का, एक आम आदमी का बेटा एक अच्छी नौकरी पा सके? आजादी के 75 साल बाद भी उत्तर प्रदेश में ऐसी सरकार क्यों है जो दूसरे राज्य के शिक्षा मंत्री पुलिस बल लगाकर रोकती है सिर्फ इसलिए क्योंकि वह उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों का हाल देखना चाहता है!

आज आजादी के 75 वें साल में उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूल में मिड डे मील के नाम पर नून-रोटी खिलाई जाती है और जब आप में से कोई पत्रकार आवाज उठाता है तो उसको 6 महीने की सजा दे दी जाती है जेल में उठा कर डाल दिया जाता है। आज आजादी के 75 वें साल में उत्तर प्रदेश में एक ऐसी नाकारा सरकार चल रही है जो केवल विज्ञापन के दम पर चल रही है, जो केवल प्रशासन द्वारा किसी भी सवाल को कुचलने के दम पर चल रही है।

मनीष स‍िसौद‍िया ने कहा क‍ि दुन‍िया के क‍िसी भी कोने में जब एक भारतीय त‍िरंगा देखता है तो उसका सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है, लेक‍िन आज आजादी के 75 साल बाद भी हमारी राजनीति ऐसी नहीं हो सकी क‍ि हमारा तिरंगा उस पर गर्व करे। हमारा तिरंगा हमसे पूछता है क‍ि उप्र में ऐसा क्‍यों हो रहा है क‍ि एक प्रसूता को अस्‍पताल में बेड न म‍िलने के कारण सड़क पर बच्‍चा जनना पड़ रहा है। सरकारी स्‍कूलों की हालत ऐसी क्‍यों है क‍ि कोई अभिभावक अपने बच्‍चों को पढ़ाना नहीं चाहता।

क्‍यों आख‍िर उप्र में गरीब के बच्‍चे को बेहतर श‍िक्षा के ल‍िए अच्‍छे स्‍कूल और इलाज के ल‍िए बेहतर अस्‍पताल नहीं म‍िल पा रहेे हैं। त‍िरंगा हमसे ये सवाल पूछता है। जब एक सड़क पर मह‍िला को बच्‍चा जन्‍मना पड़ता है या इलाज ब‍िना क‍िसी गरीब की मौत होती है तो इससे त‍िरंगे की आन-बान-शान प्रभाव‍ित होती है। आम आदमी पार्टी की त‍िरंगा संकल्‍प यात्रा इसी आन-बान-शान को बचाने का संकल्‍प है। उप्र में आज इस नाकारा सरकार के कारण त‍िरंगे की आन-बान-शान को जो छत‍ि पहुंच रही है, यह यात्रा उसी सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्‍प है। उन्‍होंने योगी सरकार को व‍िज्ञापनों की सरकार बताया। कहा क‍ि यह सरकार स‍िर्फ व‍िज्ञापन और प्रशासन‍िक दमन से चल रही है।

Related Stories

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in