मैनपुरी के घिरोर विकास खण्ड के अधिकारियों की जादूगरी, मृतक से भी करवा ली मनरेगा में मजदूरी

मैनपुरी के घिरोर विकास खण्ड के अधिकारियों की जादूगरी, मृतक से भी करवा ली मनरेगा में मजदूरी

मैनपुरी, अप्रैल २८ (TNA) सरकार भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिये भले ही प्रयास कर रही है लेकिन जिम्मेदार अधिकारी ही सेंध लगाने से नही चूक रहे है। रीचार्ज पिट के निर्माण कराये गये लेकिन उनकी भी खाना पूर्ति कर धनराधि निकाल ली गयी। और जो कार्य कराये है। वह भी मानक विहीन। वही एक जगह तो ऐसा प्रकरण आया है। कि मृतक ने रीचार्ज पिट निर्माण में 2 दिन कार्य किया ना तो वह घर वालो से मिला और ना किसी ग्रामीण को दिखाई दिया। 2 दिन कार्य केवल प्रशासन ने करबा कर उसके खाते में धनराधि भेज दी। अब निर्माण कार्य को लेकर गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है।

मामला विकास खण्ड घिरोर के ग्राम पंचायत बुढर्रा का है। ग्राम पंचायत में जल सरक्षण और जल संग्रहण के लिये रिचार्ज पिट निर्माण कार्य पूर्व माध्यमिक विद्यालय बुढर्रा में 22 दिसम्बर 2021 में 67713 रुपये की धनराधि खर्च कर रीचार्ज पिट का निर्माण कार्य कराया गया। जिसमें जॉबकार्ड up-23-001-013-001/165 रामसेवक, पुत्र मुलायम सिंह ने 22 और 23 दिसम्बर 2021 में से कार्य कर निर्माण कराया। लेकिन निर्माण कार्य करते समय ना तो मृतक रामसेवक अपने घर व गाँव वालो से मिले नाही किसी को दिखाई दिये।

और कार्य करने के वाद प्रशासन ने धनराशि भी खाते में भेज दी। इस वात को लेकर गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है। वही ग्रामीणों का कहना है। कि कार्य भी मानक के अनुसार नही कराया गया है। विभागीय कर्मचारियों के तालमेल के चलते निर्माण कार्य मे बोरवेल में 10 ,15 फुट का पाइप लगाकर खाना पूर्ति कर दी है। अगर इसकी जांच हुई तो अधिकारियों की पोल खुल जाएंगी। म्रतक रामसेवक के पुत्र सुमित कुमार का कहना है। कि पिता की मृत्यु 28 जून 2018 में हो चुकी है। उन्होंने जॉबकार्ड बनवाया था। लेकिन मनरेगा में मजदूरी करने कभी नही गये। और मृत होने के वाद कैसे मजदूरी कर सकते है। जिस अधिकारियो ने यह संयंत्र रचा उनकी जाँच होनी चाहिये।

वही अमित कुमार का कहना है। म्रतक किस तरह कार्य कर सकता है जो लगभग 4 वर्ष पूर्व मर चुका है। वही कार्य भी मानक अनुसार नही हुआ है। जिस तरह धनराधि खर्च की गयी। जांच होनी चाहिये। और दोषी लोगो पर कार्यवाही होनी चाहिये।

Related Stories

No stories found.