नीब करौरी बाबा की अनंत कथाएँ: भक्तों को बैठे बैठे दूरस्थ गुरुओं के कराए दर्शन

नीब करौरी बाबा की अनंत कथाएँ: भक्तों को बैठे बैठे दूरस्थ गुरुओं के कराए दर्शन

अपनी सर्वदृष्टा शक्ति देकर महाराज जी ने स्वामी शिवानन्द जी के अन्तरंग शिष्य स्वामी निर्मलानन्द जी को कैंचीधाम में ही उनके ऋषीकेष आश्रम तथा उनके गुरुदेव, स्वामी शिवानन्द जी के दर्शन करा दिये थे जिसका वर्णन स्वयं निर्मलानन्द जी ने ही किया है।

निर्मलानन्द जी ने प्रथम तो महाराज जी में अपने गुरु के दर्शन किये और फिर शिवानन्द जी को ऋषीकेष आश्रम में दो भक्तों के कन्धों का सहारा लेकर चलते हुए भी देखा !! (पर तब भी स्वामी निर्मलानन्द जी महाराज जी की इस लीला का रहस्य न जान पाये कि उनके गुरु गम्भीर रूप से फालिज के कारण मरणासन्न हैं, यद्यपि बाबा जी उनसे बार बार ऋषीकेष आश्रम को लौट जाने को कहते रहे ।)

निर्मलानन्द जी को ये दृश्य बाबा जी ने उसी शिला पर बैठा कर दिखाये थे जिसके ऊपर वे स्वयँ भी अक्सर बैठा करते थे।

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in