नीब करौरी बाबा की अनंत कथाएँ : सड़क पर लबालब पानी और महाराज जी का आदेश कि ले चल इस नदी के पार !

नीब करौरी बाबा की अनंत कथाएँ : सड़क पर लबालब पानी और महाराज जी का आदेश कि ले चल इस नदी के पार !

कानपुर के श्री देव कामता दीक्षित की गाड़ी के चालक श्री रामानन्द की दोनों आँखों मे मोतियाबन्द था और वही अधिकतर बाबा की जीप चलाया करते थे ।

एक बार महाराज को वृन्दावन से दिल्ली जाने की इच्छा हुई। कई दिन से लगातार पानी बरस रहा था । रामानन्द कहता है कि मैं बाबा जी कि जीप चला कहा था । मथुरा रोड पर एक स्थान पे सड़क पर इतना पानी भर गया था कि उसने नदी का रूप धारण कर रखा था ।

दिल्ली से आने वाली गाड़ियाँ उसी और वापिस लोट रही थी । मैंने बाबा से वापिस वृन्दावन लौट चलने का अनुरोध किया, पर वे नहीं माने और बोले," ले चल इस नदी मे ।"

मैं घबरा गया और बोला, "बाबा जी इंजन और जीप में पानी फँस जायेगा और हम लोग बीच में ही फँस जायेंगे ।" बाबा ने कहा,"तू आँख बन्द कर और चला।" मुझे उनकी आज्ञा का पालन करना पड़ा । गाड़ी पार हो गयी, वो पानी की सतह पर चलती गयी । मैं ये सब देख कर चकित रह गया ।

जय गुरूदेव

आलौकिक यथार्थ

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in