नीब करौरी बाबा के अनंत कथाएँ: महाराजजी शिवानन्द हो गये !

नीब करौरी बाबा के अनंत कथाएँ: महाराजजी शिवानन्द हो गये !

शिवानन्द आश्रम से आये हुए एक स्वामी को बाबा ने पूड़ियाँ खिलाई और उससे मन्दिर के पीछे गुफ़ा में बैठ जाने को कहा। पर वे स्वामी जी बाबा के प्रति बहुत आकर्षित हुये और जल्दी ही उनके पास लौट आये । फिर बाबा ने बड़ें प्रेम से उन्हें पेड़ के नीचे एक ऐसे स्थान पर भेज दिया जहाँ से बाबा उन्हें साफ़ नज़र आ रहे थे । अचानक से बाबा की लीला शुरू हो गयी, उन स्वामी जी को कैंची आश्रम शिवानन्द आश्रम के रूप में बदल गया ।

और महाराजजी शिवानन्द के रूप में आ गये । तब बाबा स्वामी के पास चलते हुए आये और बोले," क्या तू ये सोचता है कि हमारे बीच कोई अन्तर है ? क्या हम एक ही नहीं है ?" स्वामी ने कहा," आप वहाँ उस रूप में है, आप सचमुच दोनों एक मात्र है । आप मुझे इस रूप में भ्रमित कर रहे है ।" महाराज केवल मुस्कुरा दिये और स्वामी अचंभित बाबा की लीला समझने की कोशिश कर रहा था । "

Related Stories

No stories found.
The News Agency
www.thenewsagency.in