नीब करोली बाबा की अनंत कथाएँ: जब गंगा का जल बना स्वादिष्ट दूध!

नीब करोली बाबा की अनंत कथाएँ: जब गंगा का जल बना स्वादिष्ट दूध!

कुम्भ के मेले मे एक दिन सांय काल बाबा कुछ भक्तों के साथ नाव में सैर कर रहे थे। गंगा की महिमा बताते हुए आपने बताया कि गंगा में जल नही दूध प्रवाहित होता है। सभी लोग बाबा की बात सुनकर मौन रहे। महाराज जब कही जाते तो एक भक्त उनकी सेवा में एक लोटा और एक तौलिया लेकर चलता था।

बाबा ने उमा दत्त शुक्ला से उस लोटे को गंगाजल से भर लाने को कहा। उसके बाद उसे ढक कर रखवा दिया। बाबा के साथ वार्ता मे भक्तों का काफी समय बीत गया और अंधेरा होने लगा।

उन्होंने नाव को कैम्प की और ले जाने का आदेश दिया और शुक्ला जी से बोले, "सब को गंगा जल पिला दो !" लोटा पूरा दूध से भरा था, सब लोग यह देखकर चकित रह गये ! सभी ने थोडा थोडा अमृतमय स्वादिष्ट दूध का रसास्वादन किया । बाबा जी की इच्छा होने पर गंगा माई ने भी अपने जल को दूध में परिवर्तित कर दिया !

जय गुरूदेव

आलौकिक यथार्थ

Related Stories

The News Agency
www.thenewsagency.in