नीब करोली बाबा की अनंत कथाएँ : नजरबाग, लखनऊ के रहीम रिक्शेवाले की पत्नी की तबियत सही करना

नीब करोली बाबा की अनंत कथाएँ : नजरबाग, लखनऊ के रहीम रिक्शेवाले की पत्नी की तबियत सही करना

नजरबाग, लखनऊ में बाबा एक घर में विराजमान थे । बाहर भक्तों की कारों की क़तार लगी थी । एकाएक बाबा ने पूरनचन्दिर पाण्डे से किसी के घर जाने को रिक्शा लाने को कहा ।

वहाँ खड़ी किसी भी कार में जाना बाबा को पसन्द न था । रिक्शा आने पर बाबा पाण्डे जी के साथ उसमें बैठ गये । रास्ते में उस अपरिचित रिक्शे वाले का नाम लेते हूये बाबा बोले ," रहीम ! तेरी घरवाली की तबियत ख़राब है ?" उसने उत्तर दिया ," वह सख़्त बीमार है "।

बाबा उससे बोले," चल अपने घर ले जा ।" वह बाबा को अपने घर ले गया । बाबा ने उसकी बीमार पत्नी पर नज़र डाली और कहने लगे ," घबरा मत बिलकुल ठीक हो जायेगी । " ऐसा कहकर बाबा चले गये । और रहीम की पत्नी बाबा के कहे अनुसार पूर्णतः स्वस्थ हो गयी ।

जय गुरूदेव

रहस्यदर्शी

श्री नीब करौरी बाबा जी

Related Stories

The News Agency
www.thenewsagency.in