बाबा नीब करौरी की अनंत कथाएँ : पनकी हनुमान मंदिर की स्थापना और वहाँ हुए कई चमत्कार

बाबा नीब करौरी की अनंत कथाएँ : पनकी हनुमान मंदिर की स्थापना और वहाँ हुए कई चमत्कार

पनकी, हनुमान मन्दिर में स्थापना की तिथि निर्धारित करते हुए बाबा ने कहा था कि उस दिन कानपुर में बहुत सर्दी पड़ेगी, पर पनकी में शीत का प्रकोप नहीं होगा । ये बात बिल्कुल सत्य निकली ।

बाबा के अनन्य भक्त दीक्षित जी, जो वहाँ उपस्थित बताते है कि खाद्य सामग्री बढ़ती चली गई । जितना प्रबन्ध हुआ था उससे ८०० गुना व्यक्तियों ने प्रसाद पाया और सभी को घर के लिये भी प्रसाद दिया । इतना होने पर भी ६० प्रतिशत प्रसाद बचा रहा । सम्पूर्ण वनस्पति घी वे असली घी में परिवर्तित हो गया था ।

इस अवसर पर बाबा पनकी नहीं गये ४ चर्च लेन इलाहाबाद में एक बन्द कमरे में पड़े रहे। लेकिन बाबा की लीला ऐसी रही कि पनकी में कई भक्तों के बाबा के दर्शन हुए और बाबा घण्टों उनके साथ रहे । एक समय में बाबा जी दो दो जगह उपस्थित रहे, इलाहाबाद भी और कानपुर भी ।

बाबा एक समय में दो जगह क्या कई जगह उपस्थित पाये जाते। ये लीला कई भक्तों के साथ हुई भी ।

जय गुरूदेव

आलौकिक यथार्थ

Related Stories

The News Agency
www.thenewsagency.in