राज्यपाल ने राजभवन परम्परागत खेल प्रतियोगिता 2022 के विजयी खिलाड़ियों को सम्मानित किया

राज्यपाल ने राजभवन परम्परागत खेल प्रतियोगिता 2022 के विजयी खिलाड़ियों को सम्मानित किया

लखनऊ, अप्रैल 20 (TNA) उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आज राजभवन में ‘राजभवन परम्परागत खेल प्रतियोगिता 2022’ के विभिन्न खेलों के विजेताओं को पुरस्कार एवं प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया। इन हाउस राजभवन परम्परागत खेल प्रतियोगिता 2022 में खो-खो, कबड्डी, गेंदतड़ी, गिल्ली-डण्डा, किंग, लंगड़ी, कंचा-गोली, रस्सी कूद, लट्टू, गोला फेंक लम्बी कूद, 100 मी0 दौड तथा स्लो साइकलिंग रेस का आयोजन हुआ। इन खेल प्रतियोगिताओं में कुल 495 प्रतिभागियों ने सहभाग किया।

पुरस्कार वितरण के बाद अपने सम्बोधन में राज्यपाल जी ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मन की बात कार्यक्रम में विलुप्त हो रहे भारतीय परम्परागत खेलों पर की गई चर्चा से प्रेरित होकर राजभवन में आयोजित खेल प्रतियोगिता में भारतीय पारंपरिक खेलों को शामिल किया गया। उन्होंने कहा परम्रागत खेल बिना किसी व्यय के खेले जाने वाले खेल हैं और ये खेल हमारे जीवन को अनुशासित करते हैं, समय पर निर्णय लेने की क्षमता प्रदान करते हैं, जीवन को ऊर्जा प्रदान करते हैं। उन्होंने आह्वान किया कि ये खेल प्रतियोगिता समाप्त होने के बाद भी घरों, स्कूलों तथा अन्य स्थलों पर सभी खिलाड़ी उत्साह से इन खेलों को खेलते और प्रतिभाग करते रहें, खेल निरंतर खेलते रहें।

राज्यपाल ने कहा कि बाल्यकाल और खेलों का गहरा नाता है। बच्चे खेलों के माध्यम से नई-नई बाते सीखते हैं। खेल उनका साहस एवं आत्मविश्वास बढ़ाते हैं और उनमें धैर्य, ईमानदारी, सहिष्णुता, निष्ठा जैसे गुणों का समावेश होता है। खेलों में मिली जीत हार से वे नये गुण व अनुभव प्राप्त करते हैं। हार से सबक लेते हैं और कमियों को दूर करते हैं जब कि जीत उन्हें नये उत्साह और प्रेरणा से भर देती है। उन्होंने कहा कि खेल एवं व्यायाम से हमारा तन एवं मन स्वस्थ रहता है। खेल से हमारे जीवन में अनुशासन तथा मिलकर कार्य करने की भावना का संचार होता है। उन्होंने प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले सभी विजेताओं को बधाई दिया और कहा कि जो प्रतिभागी जीत हासिल नहीं कर सके वे निराश न हों, अगली बार और तैयारी के साथ प्रतियोगिता में हिस्सा लें।

Related Stories

No stories found.