अशोक सिंघल की जन्म स्थली की रज स्वयं ऋतंभरा अयोध्या लेकर जाएंगी

वृंदावन || एक प्रतिनिधिमंडल वृंदावन में वात्सल्य आश्रम पर राष्ट्रीय बजरंग दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज के नेतृत्व में दीदी ऋतंभरा से मिला।स्वर्गीय अशोक सिंघल के भतीजे सौरभ ने ऋतंभरा को सिंघल की जन्म स्थली की रज प्रदान की।

ऋतंभरा जी ने रज प्राप्त करते हुए काफी भावुक हो गई और सिंघल के साथ अपने संस्मरणों को प्रतिनिधिमंडल के साथ साझा किया। उन्होंने बताया कि किस तरीके से आंदोलन को अशोक जी के बौद्धिक कौशल से सक्रियता दी गई। संतो के सहयोग के लिए अपनी समर्पित भावना के साथ अशोक जी ने उनके सम्मुख श्री राम मंदिर निर्माण हेतु हिंदुत्व की प्रति अपना पक्ष रखा। स्वर्गीय अशोक सिंघल के योगदान को हिंदू समाज कभी भूल नहीं पाएगा दीदी मां ने अपने विचारों को स्पष्ट करते हुए का कि इस राज से मिलने से उनकी शक्ति 1000 गुना बढ़ गई है।

उन्होंने कहा कि वह स्वयं अत्यंत गर्व के साथ इस रज को अयोध्या की जाएंगी। उन्होंने कहा की आज 491 वर्ष बाद राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ होने जा रहा है अशोक जी सिंगल ने पूजनीय संतो को एक मंच पर लाकर जो अद्भुत कार्य किया वे इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा गुलामी के बाद संत एक मंच पर आने को तैयार नहीं थे महाराजा हर्षवर्धन के बाद संतो को एक मंच पर लाने का कार्य अशोक जी सिंहल ने किया मेरे जैसे अनेक संत इस कार्य में जूटे यह कार्य केवल अशोक जी के द्वारा संभव था आज पूरा भारत विश्व के हिंदू हर्षित है अपने भगवान राम के मंदिर को पाकर झंझावात आई आंधी आई हमारे आराध्य के मंदिर को तोड़कर मुगल वहां पर इस्लाम के चिन्ह खड़े कर दिए पर करोड़ों वर्ष से हिंदुओं ने अपने आराध्य को अपने घर में स्थापित कर संकल्प लिया टूटे हुए हमारे मंदिरों की इन्हीं कंकर पत्थरों से फिर से अपने मान बिंदुओं की रक्षा करेंगे और आज यह दिन साकार होता हुआ दिखाई दे रहा है|

राष्ट्रीय बजरंग दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज जी ने दीदी मां का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह आगरा के लिए सौभाग्य की बात है कि सिंघल जी का जन्म आगरा में हुआ था और उससे सौभाग्य की बात यह है कि वहां की रज स्वयं दीदी मां अयोध्या लेकर जा रही हैं।

आभार व्यक्त करते हुए मनोज जी ने कहा अशोक सिंघल जी के हिंदुत्व के प्रति किए गई सेवाओं को हमेशा याद रखा जाएगा। मनोज ने ऋतंभरा से कहा आप तो साक्षी हैं 1989 में भूमि पूजन हो गया था हमारी मांग है कि आप उचित स्थान पर यह अवश्य कहें जब भगवान राम का तोरण द्वार बनेगा वहां पूजनीय अशोक सिंघल महंत रामचंद्र परमहंस महंत अवैद्यनाथ जी महाराज व कामेश्वर चौपाल का सिला पट हो यह यह गौरव की बात है कि भारत के प्रधानमंत्री जी के द्वारा श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का शुभारंभ होने जा रहा है।

Related posts

Leave a Reply

*